वायनाड, एएनआइ। कांग्रेस नेता राहुल गांधी रविवार को बाढ़ प्रभावित केरल का दौरा करेंगे। वह अपने लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र वायनाड में राहत शिविरों में दी जा रही सहायता की समीक्षा करेंगे, जो इस समय राज्य के सबसे खराब जिलों में से एक है। राहुल गांधी केरल के रास्ते में हैं और वह दोपहर 2.20 तक केरल पहुंचेंगे।

इससे पहले ट्विटर पर राहुल गांधी ने कहा, 'अगले कुछ दिनों तक मैं अपने लोकसभा क्षेत्र वायनाड में रहूंगा, जो बाढ़ से तबाह हो चुका है। मैं वायनाड में राहत शिविरों का दौरा करूंगा और जिला और राज्य के अधिकारियों के साथ राहत उपायों की समीक्षा करूंगा।'

मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन(P Vijayan) ने कहा था कि वायनाड राज्य का सबसे अधिक प्रभावित जिला था और उन्होंने अनुमान लगाया था कि बाढ़ के कारण अकेले जिले में लगभग 11 लोग मारे गए थे। विजयन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, 'अप्रत्याशित क्षेत्रों में दुर्घटनाएं हुईं..राज्य के विभिन्न हिस्सों में 80 भूस्खलन हुए हैं। मलप्पुरम, कवलप्परा, भूतलम कॉलोनी और वायनाड में पुथुमाला बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।'

राज्य सरकार ने शुक्रवार को कहा कि लगातार बारिश और नदियों के उफान पर होने के कारण लगभग 28 लोगों की मौत हो गई और 27 अन्य घायल हो गए। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के एक बयान में कहा, 'राज्यव्यापी 28 लोगों की जान चली गई है और अन्य 27 को भारी बारिश के बाद लगातार चोटें आई हैं, जिससे राज्य में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। अब तक सात लोग लापता हो गए।' राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ), सेना और स्थानीय पुलिस द्वारा बचाव अभियान जारी है।

केरल में बाढ़ से हालात बेकाबू
बता दें, केरल में बाढ़ से हालात बेकाबू हो दगए हैं। केरल में बाढ़ और बारिश की सबसे अधिक मार वायनाड और कोझिकोड पर पड़ी है। यहां करीब 25-25 हजार लोग बेघर हुए हैं। वायनाड में बाढ़ में फंसे एक नवजात बच्चे को सेना के जवानों ने सुरक्षित निकाला है। राज्य में वर्षाजनित घटनाओं में अब तक 46 लोगों की मौत हो चुकी है। आठ जिलों में आठ अगस्त से भूस्खलन की 80 घटनाएं हो चुकी हैं। कुछ लोगों के अब भी मलबे में दबे होने की आशंका है। सबसे प्रभावित जिलों में एक वायनाड में बाणासुरसागर बांध के चार दरवाजों में से एक को अतिरिक्त पानी को छोड़ने के लिए तीन बजे खोल दिया गया। केरल की कई ट्रेनें रद कर दी गई हैं। कोच्चि एयरपोर्ट के एक अधिकारी के अनुसार उड़ान संचालन रविवार पूर्वाह्न् तक बहाल हो सकेगा। केरल में 1.25 लाख लोग राहत शिविरों में रहने को मजबूर हैं।

केरल के इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट
केरल के एर्नाकुलम, कोझिकोड, वायनाड और कन्नूर में मौसम विभाग ने भारी बारिश  का अलर्ट जारी किया है। इससे राज्य में 2018 में अगस्त में आई भयावह बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Shashank Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप