जयपुर, जागरण संवाददाता। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी छोड़ने वालों पर तंज कसते हुए कहा कि हमारी लक्ष्मण रेखा सत्य है, जहां हमें सत्य दिखेगा वहां हम रहेंगे । सवाल यह उठता है कि ऐसे वक्त में घर से भागता कौन है ? हम गुस्सा हो सकते हैं, लेकिन घर से भाग नहीं सकते। हम नफरत और डर को निकाल देंगे। आज समाज में नफरत और डर फैलाया जा रहा है, सच्चाई को दबाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर तंज कसते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इनका सच्चाई से कुछ भी लेना- देना नहीं है। चीन ने हमारी जमीन पर कब्जा कर लिया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी चुप हैं। कोई जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं है।

अगर मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री होते और चीन हमारी जमीन पर कब्जा कर लेता तो मैं गारन्टी से कह रहा हूं कि वह इस्तीफा दे देते । मौजूदा प्रधानमंत्री में ऐसा नैतिक साहस नहीं है। मोदी और भाजपा के लोग सच्चाई का सामना नहीं कर सकते । मोदी ने पूरे देश में नफरत फैला दी है। नोटबंदी और जीएसटी जैसे गलत कदम उठाए हैं,जिससे देश के लोगों को भारी नुकसान हुआ है। हमारी जिम्मेदारी नफरत से लड़ना और देश को सच्चाई बताना है। सभी कार्यकर्ताओं का प्रत्येक स्तर पर प्रशिक्षण होना चाहिए,जिससे पार्टी वैचारिक रूप से मजबूत हो बनें।

राहुल मंगलवार को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा आयोजित प्रशिक्षण शिविर के अंतिम दिन वर्चुअल संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पार्टी कार्यकर्ताओं को कृषि कानून सहित मोदी सरकार के अन्य फैसलों के बारे में बताना होगा।उन्होंने कहा कि सभी धर्म सत्य को प्राप्त करने के मार्ग हैं। हमारे लिए धर्म सच्चाई प्राप्त करने का रास्ता है, लेकिन हिन्दुत्व का धर्म को सत्ता प्राप्त करने का मार्ग बनाना मात्र है।

राहुल ने कहा कि जिन लोगों न मोदी के गलत निर्णयों के सामने सिर झुका दिया वह हिन्दुत्व है। हिन्दुत्व की विचारधारा मानने वाले किसी के भी सामने सिर झुका देते हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि देश में वर्तमान में जो माहौल है वह जल्द बदलेगा । देश में आज अविश्वास का माहौल है, लोकतंत्र खतरे में है। संविधान की भावना के खिलाफ काम हो रहे हैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अजय माकन और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने भी इस मौके पर सम्बोधित किया।

Edited By: Arun Kumar Singh