नई दिल्‍ली [जेएनएन]। गुजरात चुनाव में भाजपा और कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर सोशल मीडिया में काफी कुछ चल रहा है। ट्विटर पर भी इसको लेकर बॉलीवुड से लेकर क्रिकेटर और राजनेताओं तक ने अपनी राय लिखी है। कुछ ने तो चुटकी लेने से भी परहेज नहीं किया है। सारा अली खान ने कांग्रेस के प्रदर्शन पर लिखा है कि राहुल गांधी एक अमीर बच्‍चे हैं जिन्‍हें राजनीति का अपना फैमिली बिजनेस चलाने के लिए महज 35 फीसद मार्क्‍स ही चाहिएं लेकिन वह फिर फेल हो गए हैं। वहीं नरेंद्र मोदी गरीब बच्‍चे हैं जिन्‍हें हर बार 99 फीसद चाहिए होते हैं वह हर बार बच जाते हैं।

सारा ने ईवीएम में छेड़छाड़ के मुद्दे को हवा देने वालों को भी जमकर लताड़ा है। उन्‍होंने गुजरात नतीजों पर लिखा है कि यदि केजरीवाल के झूठे सुबूतों को दिखाता है। हार्दिक पटेल ने कहा था कि भाजपा ने अपनी जीत के लिए सूरत, अहमदाबाद और राजकोट में ईवीएम से छेड़छाड़ की है। सारा आगे लिखती हैं कि हार्दिक भाई को पाकिस्‍तान में चुनाव लड़ना चाहिए।

इनके अलावा जाने-माने अभिनेता और भाजपा सांसद परेश रावल ने ट्विटर पर लिखा सुबह 9-10 बजे तक कांग्रेस बढ़त बनाए हुए थी। कांग्रेस के कार्यकर्ता कांग्रेस आफिस के बाहर ‘राहुल गांधी जिंदाबाद’ के नारे लगा रहे थे। अब भाजपा जीत गई है तो भाजपा वाले नारे लगा रहे हैं भारत माता की जय। भाजपा और कांग्रेस के बीच यही एक फर्क है।

भाजपा नेता दर्शना जारदोष ने लिखा कि सूरत के सभी भाजपाई प्रत्‍याशियों को जीत की बधाई। गुजरात की जनता ने उन लोगों को नकार दिया है जो जाति और धर्म के नाम पर बांटने की राजनीति करना चाहते थे।

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने लिखा है कि गुजरात और हिमाचल की जनता ने भाजपा में विश्‍वास जताया है। उन्‍होंने लिखा कि इस चुनाव ने नरेंद्र मोदी और उनकी राजनीति के ऊपर विश्‍वास जताया है।

क्रिकेटर विरेंद्र सहवाग ने ट्विटर पर पूछा है कि 2019 में राहुल और मोदी में से कौन पीएम बनेगा। उन्‍होंने यह भी लिखा है कि यदि राहुल की लाइफ मिले तो द्रविड बनें राहुल गांधी नहीं और यदि हार्दिक की मिले तो हार्दिक पांडया बनें हार्दिक पटेल नहीं। इनके अलावा बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौट ने लिखा है कि सत्ता विरोधी लहर का प्रचार करने के बाद भी कांग्रेस को कोई फायदा नहीं हुआ और भाजपा फिर गुजरात में जीत गई। क्‍या अब भी राहुल गांधी को 2019 में देश का प्रधानमंत्री बनाने पर विचार किया जा सकता है।

बीजेवाईएम की तरफ से पीएम मोदी को इस जीत की बधाई देते हुए लिखा गया है कि पीएम मोदी को इसकी बधाई सिर्फ इसलिए नहीं कि उन्‍होंने लगातार छठी बार यह चुनाव जीता है बल्कि इसलिए भी इतने वर्षों की सरकार के बाद भी राज्‍य में कहीं भी सत्‍ता विरोधी लहर नहीं दिखाई दी।

भाजपा की गुजरात में जीत पर अभिजीत मजूमदार ने ट्विटर पर लिखा कि गुजरात चुनाव के रिजल्‍ट को कुछ इस तरह से देखा जाना चाहिए। पटेलों के आंदोलन के बाद, 22 वर्षों के बाद फैली सत्ता विरोधी लहर, राहुल गांधी को बढ़ाचढ़ाकर दिखाने की कवायद, जाति और मंदिर की राजनीति के बाद भी भाजपा आसानी से गुजरात में जीत गई।

कांग्रेसी नेता और गुजरात के प्रभारी अशोक गहलोत ने लिखा है कि भाजपा ने पीएम मोदी और अमित शाह के गृहराज्य में 100 से अधिक सीटों पर जीत पाने के लिए एडी चोटी का जोर लगा दिया। कांग्रेस ने भी जबरदस्‍त प्रचार किया और कई मुद्दों को उठाया। वहीं भाजपा ने कांग्रेस के उठाए सवालों का जवाब तक नहीं दिया। उन्‍होंने आरोप लगाया है कि भाजपा ने यह चुनाव मुद्दों पर नहीं लड़ा।

यह भी पढ़ें:  ujarat Election: पिछड़ने के बाद भी गुजरात में कांग्रेस का होगा वर्षों बाद सबसे दमदार प्रदर्शन 

यह भी पढ़ें: जानिए मेयर से गुजरात के CM पद तक पहुंचने वाले विजय रुपाणी की पूरी कहानी

यह भी पढ़ें: Live Gujarat Election Results 2017: 22 वर्षों बाद भी सत्ता से दूर कांग्रेस, गुजरात में फिर चला ‘मोदी मैजिक’ 

यह भी पढ़ें: Gujarat Vidhan Sabha Election Results: राजकोट की चुनावी जंग में जीत की तरफ विजय रुपाणी  

Posted By: Kamal Verma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस