नई दिल्ली, जेएनएन। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जीएसटी को लेकर केंद्र सरकार पर फ‍िर न‍िशाना साधा है। राहुल गांधी ने रविवार को जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बताते हुए इसे देश की अर्थव्यवस्था और असंगठित क्षेत्र की बदहाली के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्‍होंने कहा कि त्रुटिपूर्ण जीएसटी टैक्स की नई व्यवस्था से देश की अर्थव्यवस्था के साथ राज्यों की वित्तीय हालत भी डगमगा गई है और यह साफ हो गया है कि यह फेल हो गई है।

अर्थव्यवस्था की स्थिति पर अपनी वीडियो श्रृंखला के तहत जीएसटी पर चर्चा करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा कि जीएसटी यूपीए सरकार का विचार था जिसमें एक टैक्स, कम से कम टैक्स, साधारण और सरल टैक्स की व्यवस्था को शुरू किया जाना था लेकिन एनडीए सरकार की टैक्स व्यवस्था बिल्कुल अलग है। इसमें चार अलग अलग तरह के टैक्स हैं और वो भी 28 फीसद तक...

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि यदि जीएसटी में किसी की पहुंच है तो वह देश के सबसे बड़े 15-20 उद्योगपतियों की है। वे जो भी टैक्स का कानून बदलना चाहते हैं इस जीएसटी व्यवस्था में बदल सकते हैं। जीएसटी से टैक्स संग्रह की बढ़ी चुनौतियों की ओर इशारा करते हुए राहुल ने कहा कि इसका नतीजा यह है कि आज केंद्र सरकार राज्यों को जीएसटी का पैसा ही नहीं दे पा रही है। इसकी वजह से प्रदेश सरकारें अपने कर्मचारियों और शिक्षकों का वेतन तक नहीं दे पा रही हैं।

इससे साफ है कि एनडीए सरकार की जीएसटी व्यवस्था बिल्कुल फेल है। यह व्‍यवस्‍था केवल फेल ही नहीं है बल्कि गरीबों, स्मॉल एंड मीडियम बिजनेस के साथ-साथ असंगठित क्षेत्र पर भी हमला है। इससे पहले राहुल ने एक तुकबंदी के जरिए निशाना साधते हुए कहा था कि 12 करोड़ रोजगार गायब, पांच ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था गायब, आम नागरिक की आमदनी गायब, देश की खुशहाली और सुरक्षा गायब, सवाल पूछो तो जवाब गया।' 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021