नई दिल्ली, जेएनएन। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने राफेल मुद्दे (Rafale Deal) पर अदालत की अवमानना मामले में सुप्रीम कोर्ट की तरफ से जारी नोटिस पर सोमवार को अपना जवाब दाखिल किया। जवाब में राहुल ने अपने बयान पर खेद जताया है। इसके बाद से ही भारतीय जनता पार्टी ने उन्‍हेें फिर से घेरना शुरू कर दिया है। हलफनामा दाखिल कर अपने जवाब में राहुल ने कहा कि वह राजनीतिक मामले में कोर्ट को बीच में नहीं लाना चाहते, लेकिन भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी अदालत की अवमानना के बहाने से राजनीति कर रही हैं।

राहुल ने कहा, उनका मकसद सुप्रीम कोर्ट की अवमानना करना नहीं था लेकिन भाजपा सुप्रीम कोर्ट के फैसले को राफेल मामले में क्लीन चिट बनाकर बाहर फायदा उठा रही है। इसलिए मीनाक्षी लेखी की याचिका जुर्माने के साथ खारिज की जाए। भाजपा कोर्ट का इस्तेमाल राजनीतिक प्रचार के लिए कर रही है।

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश की अवमानना करने का आरोप है। सुप्रीम कोर्ट में ‘राफेल मामले’ पर पुनर्विचार याचिका स्वीकारने के बाद राहुल ने अपने एक बयान में कहा था कि सुप्रीम कोर्ट ने भी ये मान लिया है कि ‘चौकीदार चोर है’ जिसके बाद बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने उनके खिलाफ याचिका दाखिल की थी। कोर्ट ने राहुल की टिप्पणी ‘चौकीदार चोर है’ को लेकर उनके खिलाफ 23 अप्रैल को आपराधिक अवमानना का नोटिस जारी किया था।

Posted By: Nazneen Ahmed

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप