नई दिल्‍ली, एएनआइ। कांग्रेस पार्टी ने पिछले कई चुनावों में राफेल लड़ाकू विमान डील में गड़बड़ी की बात कही, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को राफेल मामले में पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया है। इससे कांग्रेस पार्टी को करारा झटका लगा है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कोर्ट ने आज मोदी सरकार की साख पर मुहर लगा दी है।

गृह मंत्री ने ट्वीट कर कहा, 'राफेल मामले में पुनर्विचार याचिका रद करने का सुप्रीम कोर्ट का फैसला उन नेताओं व पार्टियों को उचित जवाब है, जो केंद्र सरकार के खिलाफ विेद्वेषपूर्ण व बेबुनियाद अभियान चलाते हैं। सुप्रीम कोर्ट के आज के फैसले ने एक बार फिर मोदी सरकार की साख पर मुहर लगा दी है। मोदी सरकार भ्रष्टाचार मुक्त और पारदर्शी है।

अमित शाह ने आगे लिखा, 'पूरे देश के सामने अब यह बात साबित हो गई है कि राफेल लड़ाकू विमान डील के नाम पर संसद नहीं चलने देना काफी शर्म की बात है। संसद के इस वक्‍त का लोगों की भलाई के कामों के लिए इस्‍तेमाल हो सकता था, लेकिन कांग्रेस ने ऐसा नहीं होने दिया। अब कांग्रेस और देशहितों से ऊपर राजनीति करने वालों को जनता से माफी मांगनी चाहिए।

रविशंकर ने भी पूछा- देश से कब माफी मांगेंगे राहुल गांधी?

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट के राफेल पर फैसले के बाद रविशंकर प्रसाद ने भी कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और खुद राहुल गांधी को पूरे देश से माफी मांगनी चाहिए। राफेल विमान सौदे पर राहुल गांधी के बयान पर आज यानी गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने उनकी माफी को मंजूर करते हुए उनके खिलाफ दायर मानहानि के केस को खारिज कर दिया। हालांकि, अब कोर्ट के फैसले के बाद भाजपा, कांग्रेस पर हमलावर दिख रही है। केंद्रीय मंत्री ने सबसे पहले ही अपने बात की शुरुआत इस बात से की कि कांग्रेस पार्टी औपचारिक रूप से देश से मांफी मांगे और राहुल गांधी को भी देश से मांफी मांगनी चाहिए। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से बचने के लिए तो राहुल गांधी ने माफी मांग ली है, लेकिन देश की जनता के सामने क्या करेंगे। उनसे माफी कब मांगेंगे? चाहिए।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप