नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस नेता राहुल गांधी के चंडीगढ़ में सोमवार को पंजाब के नए मुख्यमंत्री के तौर पर चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने की संभावना नहीं है। सूत्रों ने समाचार एजेंसी एएनआइ को यह जानकारी दी है। उन्होंने आगे बताया कि समारोह में सभा छोटी होगी और कुछ अन्य नेता भी इसमें शामिल नहीं होंगे। चरणजीत सिंह चन्नी आज सुबह 11 बजे राज्य के 16वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने वाले हैं।

पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीपीसीसी) के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के साथ महीनों तक चली खींचतान के बाद अमरिंदर सिंह ने शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अपना इस्तीफा राज्य के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित को सौंपा। सिंह ने अपने इस्तीफे के बाद कहा कि वह 'अपमानित' महसूस कर रहे थे। उन्होंने कहा था कि उन्हें पिछले दो महीनों में केंद्रीय नेतृत्व द्वारा तीन बार बुलाया था। ये घटनाक्रम 2022 के पंजाब विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले हुआ है।

दलित नेता चन्नी निवर्तमान मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के मंत्रिमंडल में तकनीकी शिक्षा मंत्री थे और राज्य में मुख्यमंत्री पद संभालने वाले पहले दलित होंगे। रविवार को पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने कहा था कि चन्नी को सर्वसम्मति से कांग्रेस विधायक दल का नेता चुना गया है। पंजाब सरकार की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, चन्नी तीन बार नगर पार्षद रहे और दो बार नगर परिषद खरड़ के अध्यक्ष रहे। वह 2007 में पहली बार चमकौर साहिब सीट से विधायक चुने गए थे। वह इस सीट से 2012 में और फिर 2017 में भी विधायक चुने गए। 2015 में, चन्नी को 14 वीं पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में चुना गया था। 2017 में, उन्हें पंजाब सरकार में तकनीकी शिक्षा और औद्योगिक प्रशिक्षण, रोजगार सृजन और विज्ञान और प्रौद्योगिकी के लिए कैबिनेट मंत्री नियुक्त किया गया था।

Edited By: Tanisk