मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। प्रियंका गांधी वाड्रा के सियासत में कदम रखने के साथ ही उत्तरप्रदेश ही नहीं देश के तमाम सूबों के कांग्रेसी उनके कार्यक्रमों की डिमांड करने लगे हैं। मगर कांग्रेस अभी प्रियंका का फोकस पूर्वी उत्तरप्रदेश पर ही रखना चाहती है। इसी रणनीति के तहत पार्टी कैडर ही नहीं कांग्रेस महासचिव की जनता से सीधे संवाद की रूपरेखा बनाई जा रही है। लखनऊ में मार्च की शुरूआत में युवाओं के साथ प्रियंका का टाउन हॉल संवाद करा कर इसका आगाज करने की तैयारी है।

प्रियंका के टाउन हॉल संवाद में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ युवाओं के अच्छी तादाद में जुटने की पूरी संभावना देखते हुए लखनऊ के इस प्रस्तावित कार्यक्रम का अंतिम स्वरूप 14 फरवरी के बाद तय होगा। पूर्वी उत्तरप्रदेश के कांग्रेस महासचिव की जिम्मेदारी संभालने 11 फरवरी को राहुल गांधी के साथ लखनऊ पहुंच रहीं प्रियंका पहले चरण में चार दिन तक वहां डेरा डाल पार्टीजनों से जमीनी हालात का आकलन करेंगी। इसके बाद ही सूबे में उनके सियासी दौरे के कार्यक्रम बनेंगे।

उत्तरप्रदेश के युवाओं से प्रियंका के लखनऊ में प्रस्तावित संवाद कार्यक्रम के बारे में पूछे जाने पर युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद्र यादव ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि पार्टी के युवा कार्यकर्ता बेहद जोश में हैं। इसीलिए हम युवा संवाद का आयोजन करने की तैयारी कर रहे हैं जिसमें पार्टी के युवा कार्यकर्ता ही नहीं आम युवा भी शिरकत करेंगे। प्रियंका के इस संवाद का लक्ष्य युवाओं को कांग्रेस की ओर खींचने पर होगा। केशव यादव ने कहा कि प्रदेश स्तर के कार्यक्रमों के अलावा युवा कांग्रेस भी लोकसभा चुनाव के लिए उत्तरप्रदेश में युवाओं के साथ कम से कम प्रियंका गांधी के चार संवाद कराने की रूपरेखा बना रही है। वाराणसी समेत सूबे के चार क्षेत्रों में युवाओं के साथ ऐसे ही संवाद की योजना है।

उत्तरप्रदेश के अलावा दूसरे सूबों से प्रियंका के सियासी कार्यक्रमों की बढ़ी डिमांड के बारे में केशव चंद्र यादव ने कहा कि बेशक लगभग सभी राज्यों की युवा इकाइयां उनके दौरे का आग्रह भेज रहे हैं। मगर कांग्रेस हाईकमान ही ऐसे आग्रह पर विचार कर उचित फैसला लेगा। उनका कहना था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव के लिए युवा कांग्रेस को बूथ पर टीम बनाने और देश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में युवा संवाद के लक्ष्य पर काम कर रही है। इसी तरह चलो पंचायत कार्यक्रम के तहत युवा कांग्रेस किसानों का कर्ज माफ करने, बिजली बिल माफ करने और अब न्यूनतम आमदनी गारंटी का लोगों तक लिखित वादा देने में जुटी है। केशव के अनुसार राहुल गांधी के इन बड़े चुनावी वादों को युवा कांग्रेस 230 लोकसभा सीटों पर पहुंचाने में जुटी है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप