जागरण संवाददाता, जयपुर। राजस्थान की दो विधानसभा सीटों मंडावा और खींवसर पर हो रहे उप चुनाव में सोमवार को सुबह 7 से शाम 6 बजे तक मतदान होगा। कांग्रेस दोनों सीटों पर चुनाव लड़ रही है। वहीं भाजपा मंडावा सीट पर चुनाव लड़ रही है। भाजपा ने खींवसर सीट एनडीए में अपने सहयोग हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के लिए छोड़ी है। खींवसर से हनुमान बेनीवाल के भाई नारायण बेनीवाल चुनाव लड़ रहे है। उनका मुकाबला कांग्रेस के हरेंद्र मिर्धा से है। वहीं मंडावा विधानसभा क्षेत्र में भाजपा प्रत्याशी सुशीला सिंगड़ा का मुकाबला कांग्रेस की रीटा चौधरी से है।

उप चुनाव के लिए सभी तैयारियां पूरी, मतदान सुबह 7 बजे से

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने बताया कि मंडावा एवं खींवसर विधानसभा के उप चुनाव के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। दोनों निर्वाचन क्षेत्रों के लिए मतदान सोमवार को सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक होगा। 24 अक्टूबर को मतगणना होगी।

आनंद कुमार ने बताया कि मंडावा में कुल 2,27,414 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। इनमें से 1,17,742 पुरुष और 1,09,672 महिला मतदाता शामिल है। इस विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में 2970 सेवा नियोजित मतदाता भी हैं, जिन्हें इलेक्ट्रोनिकली मतपत्र पूर्व में ही भेज दिए गए हैं। मंडावा में कुल 259 मतदान केन्द्र हैं। इनमें से 60 क्रिटिकल मतदान केंद्र है।

इसी तरह खींवसर में कुल 2,50,155 मतदाताओं द्वारा अपने मताधिकार का प्रयोग किया सकेगा। इनमें से 1,30,908 पुरुष और 1,19,247 महिला मतदाता शामिल है। इस क्षेत्र में 608 सेवा नियोजित मतदाता हैं, जिन्हें इलेक्ट्रोनिकली मतपत्र पूर्व में ही भेज दिए गए हैं। खींवसर में कुल 266 मतदान केन्द्र हैं। इनमें से 121 क्रिटिकल मतदान केंद्र है। दोनों विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में 8-8 केंद्रीय सुरक्षा बलों की कंपनियां उपलब्ध करवायी गई है।

जयपुर नगर निगम के दोनों महापौर की सीट ओबीसी महिला के लिए आरक्षित

राजस्थान में होने वाले नगर निगम, नगर पालिकाओं एवं नगर परिषदों के चुनाव में महापौर, चेयरमैन और सभापतियों के पदों के लिए वर्गवार लॉटरी रविवार को जयपुर स्थित स्थानीय निकाय निदेशालय में निकाली गई। लॉटरी में दो दिन पहले जयपुर शहर में बनाए गए दोनों नगर निगमों में महापौर की सीटें महिला ओबीसी के लिए आरक्षित हो गई है। सरकार ने दो दिन पूर्व जयपुर की 40 लाख से अधिक की आबादी को देखते हुए जयपुर हैरेटेज और जयपुर ग्रेटर नगर निगम बनाए थे।

लॉटरी से हुआ चयन

कांग्रेस और भाजपा में सामान्य वर्ग के कई वरिष्ठ नेता इन दोनों नगर निगमों में महापौर पद पर नजर लगाए बैठे थे, लेकिन लॉटरी में दोनों सीटें महिला ओबीसी के लिए आरक्षित हो गई हैं। कोटा उत्तर नगर निगम में महापौर का पद एससी महिला के लिए अारक्षित हुआ है। स्थानीय निकाय निदेशक भवानी देथा और जयपुर नगर निगम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वीपी सिंह ने विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों की मौजूदगी में लॉटरी निकाली। यह लॉटरी प्रदेश के 10 नगर निगम, 34 नगर परिषद और 152 नगर पालिकाओं के लिए निकाली गई है।

लॉटरी में जयपुर संभाग की किशनगढबास, खेतड़ी, सूरजगढ़, विधाविहार, लोसल, नीमकाथाना, लालसोट, दौसा, फुलेरा, झुंझूनूं सामान्य वर्ग की महिला के लिए आरक्षित हुई है। इसी तरह थानागाजी, मंडावा ओबीसी के लिए आरक्षित हुई है। फतेहपुर शेखावाटी, खैरथल, महुआ, शाहपुरा ओबीसी वर्ग के लिए आरक्षित हुई है।अजमेर संभाग में ओबसी और एससी के लिए 7-7, सामान्य वर्ग के लिए 21 सीटें आरक्षित हुई हैं। कोटा संभाग की 21 में से 6 एसी, 4 ओबीसी और 11 सामान्य के लिए आरक्षित हुई हैं।

जोधपुर शहर के दोनों नगर निगम उत्तर एवं दक्षिण में सामन्य महिला वर्ग की महापौर बन कसेगी। जोधपुर संभाग के कुल 26 निकायों में सामान्य वर्ग के लिए 17, ओबीसी के लिए 5, एससी के लिए 4 पद आरक्षित हुए है।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस