जयपुर [नरेन्द्र शर्मा]। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राजस्थान में आगामी दिनों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर शनिवार को जयपुर में पार्टी की ओर से चुनाव प्रचार अभियान का शंखनाद किया। इस दौरान उनके निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे।

भाजपा के गढ़ माने जाने वाले जयपुर में करीब 13 किलोमीटर के रोड शो के बाद रामलीला मैदान में आयोजित पार्टी प्रतिनिधियों की सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने राफेल घोटाला, महिला सुरक्षा व नोटबंदी सहित कई मुद्दे उठाए। अलबत्ता, उन्होंने इस दौरान राजस्थान का न के बराबर जिक्र किया और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का तो नाम तक नहीं लिया।

राहुल गांधी ने करीब 40 मिनट के अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी और एनडीए सरकार को ही कोसा। इस दौरान उन्होंने राजस्थान का नाम तो दो बार लिया, लेकिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की चर्चा तक नहीं की। प्रदेश के मुद्दों को भूले राहुल गांधी ने अपने पुराने भाषणों को जयपुर में नए तरीके से पेश किया।

राहुल ने राफेल विमान सौदा, महिला अत्याचार, दलित ¨हसा, किसानों की आत्महत्या, बेरोजगारी, नोटबंदी और जीएसटी को लेकर मोदी सरकार को घेरा। राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि 45 हजार करोड़ रुपये के कर्जदार अनिल अंबानी की कंपनी को पीएम मोदी ने राफेल विमान सौदे का कांट्रेक्ट दिलवा दिया, जबकि यह कंपनी मात्र सात दिन पहले बनी थी।

उन्होंने कहा एनडीए सरकार ने उस कंपनी को कांट्रेक्ट दिलवाया, जिसने कभी एक विमान नहीं बनाया। राहुल ने बेरोजगारी, दलित ¨हसा और किसानों द्वारा की जा रहीं आत्महत्या को लेकर वही बातें बोली जो अब तक संसद और अन्य राज्यों की यात्राओं के दौरान उठाते रहे हैं ।

राहुल बोले-बालिका पढ़ाओ, लेकिन बीजेपी नेताओं से बचाओ
उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में दुष्कर्म की वारदात में भाजपा विधायकों के नाम सामने आने को लेकर राहुल ने कहा कि पीएम मोदी और भाजपा नेता इस बारे में कुछ भी नहीं बोले । 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' नारे पर तंज कसते हुए राहुल ने कहा 'बेटी पढ़ाओ, लेकिन बीजेपी के नेताओं से बचाओ' ।

सत्ता में कार्यकर्ताओं की होगी भागीदारी
राहुल गांधी ने कार्यकर्ताओं से विधानसभा चुनाव अभियान में जुटने का आह्वान करते हुए कहा कि पैराशूट से लैंड करने वालों को टिकट नहीं मिलेगा । कार्यकर्ताओं से पूछकर ही टिकट तय होंगे। उन्होंने कहा राजस्थान,मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार बनने के बाद कार्यकर्ताओं की सत्ता में भागेदारी बढ़ेगी ।

जीएसटी के दायरे में लाएंगे पेट्रोल-डीजल
सभा में उन्होंने कहा कि जैसे ही कांग्रेस 2019 में चुनाव जीतेगी, हम पांच अलग-अलग स्तर वाले गब्बर ¨सह टैक्स को बदलकर एक जीएसटी देंगे। हम डीजल और पेट्रोल को भी जीएसटी के दायरे में लाएंगे, जिससे महंगाई कम होगी । नोटबंदी की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा इससे छोटे व्यापारियों को नुकसान हुआ है।

Posted By: Vikas Jangra