नई दिल्ली [जेएनएन]। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इंडस्ट्री एक प्रोसेस है और टेक्नोलॉजी एक टूल है लेकिन इसका अंतिम लक्ष्य, समाज की आखिरी पंक्ति में बैठे व्यक्ति के जीवन को आसान बनाना है, उसमें बदलावा लाना है। पीएम मोदी यहां दिल्ली में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के भारत में पहले और विश्व में चौथे रेवोल्यूशन सेंटर के उद्घाटन पर बोल रहे थे। 

उन्होंने कहा कि आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, मशीन लर्निंग, ब्लॉकचेन जैसी तमाम तकनीकों में भारत के विकास को नई ऊंचाई पर ले जाने, रोजगार के लाखों नए अवसर बनाने और देश के प्रत्येक व्यक्ति के जीवन को बेहतर बनाने की क्षमता है। भारत इसे सिर्फ इंडस्ट्री में परिवर्तन के तौर पर नहीं, बल्कि इसे सामाजिक परिवर्तन के आधार के तौर पर देख रहा है।

मोदी ने कहा कि जहां 2014 से पहले देश की 59 पंचायतें ऑप्टिकल फाइबर से जुड़ी थीं, वहीं आज 1 लाख से ज्यादा पंचायतों तक ऑप्टिकल फाइबर पहुंच चुका है।  इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार ने चौथी औद्योगिक क्रांति के लिए भारत को तैयार करने की पहल की। 

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vikas Jangra