नई दिल्ली, एजेंसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को डा. अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर में हो रही भाजपा की संसदीय दल की बैठक में शामिल हुए। गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, पीयूष गोयल, एस जयशंकर, प्रह्लाद जोशी, जितेंद्र सिंह समेत अन्य नेता पार्टी की संसदीय दल की बैठक में मौजूद थे। इस दौरान 15 नवंबर (बिरसा मुंडा के जन्मदिन) को जनजातीय गौरव दिवस के रूप में मनाने की घोषणा के लिए भाजपा संसदीय दल की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी को सम्मानित किया गया।

संसद सत्र के दौरान आमतौर पर हर मंगलवार को भाजपा संसदीय दल की बैठक होती है। हालांकि, पिछले सप्ताह बैठक नहीं हुई थी। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने निलंबित 12 राज्यसभा सांसदों पर भाजपा संसदीय दल की बैठक के बाद कहा कि हमने समझाया कि उन्हें निलंबित क्यों करना पड़ा। जो कुछ भी हुआ, देश ने देखा है। यह आन रिकार्ड है। अगर वे आज भी माफी मांगते हैं, तो हम निलंबन वापस लेने के लिए तैयार हैं।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीएम मोदी ने आज की बैठक में संसद खेल स्पर्धा, तंदरुस्त बाल स्पर्धा और सूर्यानमस्कार स्पर्धा आयोजन करने के लिए आवाहन दिया है। इसके साथ ही जिन्हें पद्म अवार्ड मिला है उनके साथ एक लाइव कार्यक्रम करने का आवाहन भी दिया है।

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर को शुरू हुआ और 23 दिसंबर तक चलेगा। संसद के दोनों सदनों में 12 सांसदों के निलंबन को रद्द करने की मांग पर विपक्ष अड़ा हुआ है। इसकी वजह से संसद की कार्यवाही को सुचारू रूप से चलाने में बाधा आ रही है। निलंबित सदस्यों में कांग्रेस से छह, तृणमूल कांग्रेस और शिवसेना के दो-दो, और सीपीआइ और सीपीएम से एक-एक सदस्य शामिल हैं। निलंबन के बाद से सभी 12 सांसद रोजाना संसद में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन कर रहे हैं।

इन 12 सांसदों का निलंबन

सदन में अनुशासनहीनता के आरोप में सीपीएम के इलामाराम करीम, कांग्रेस की फूलो देवी नेताम, छाया वर्मा, आर बोरा, राजमणि पटेल, सैयद नासिर हुसैन, अखिलेश प्रसाद सिंह, भाकपा के बिनाय विश्वम, टीएमसी की डोला सेन और शांता छेत्री और शिवसेना की प्रियंका चतुर्वेदी और अनिल देसाई को मौजूदा सत्र के शेष भाग के लिए निलंबित कर दिया गया है। अगस्त में मानसून सत्र के अंत में कथित अनियंत्रित आचरण के लिए सदस्यों को निलंबित कर दिया गया था।

Edited By: Manish Pandey