नई दिल्‍ली/कोलकाता। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चक्रवात प्रभावित बंगाल के लिए 1000 करोड़ और ओडिशा के लिए पांच सौ करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। उन्होंने एम्फन तूफान में मरने वालों के परिवार वालों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये देने का एलान किया। शुक्रवार को पीएम ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के साथ उत्तर और दक्षिण 24 परगना के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण भी किया। इसके बाद बसीरहाट कॉलेज मैदान में सीएम के साथ समीक्षा बैठक की, जहां उन्होंने तूफान से नुकसान का आकलन किया।

यूरोपियन यूनियन ने भी मदद की

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने एम्फन की तबाही से निपटने के लिए 50 लाख रुपये का अनुदान मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया है। ममता बनर्जी ने भी तूफान में जान गंवाने वालों के परिजनों को ढाई-ढाई लाख रुपये की सहायता राशि देने का गुरुवार को ही एलान कर दिया था। शुक्रवार को यूरोपियन यूनियन ने भी एम्फन से प्रभावित लोगों की मदद के लिए पांच लाख यूरो (करीब चार करोड़ 14 लाख रुपये) देने की घोषणा की है।

मृतकों के परिजनों के लिए मदद का एलान

बंगाल दौरे पर पीएम ने घोषणा की कि राज्य के चक्रवात प्रभावित लोगों की सुविधा और जरूरतों की पूर्ति के लिए एक हजार करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज केंद्र सरकार देगी। यह तत्काल सहायता है। इसके अलावा केंद्र सरकार और भी आवश्यक मदद करती रहेगी। साथ ही तूफान में मरने वालों के परिवार वालों को 2-2 लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये देगी। गौरतलब है कि गुरुवार को ही ममता ने एक हजार करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता की मांग की थी।

मोदी ने की ममता-पटनायक की तारीफ

मोदी ने कहा कि जब देश कोरोना संकट से जूझ रहा था, ऐसे समय में चक्रवात ने बंगाल और ओडिशा को प्रभावित किया है। बंगाल के लोग इससे सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। केंद्र सरकार मजबूती से बंगाल के लोगों के साथ खड़ी रहेगी। केंद्र-राज्य मिलकर काम करेंगी। स्थिति से निपटने के लिए उन्होंने बंगाल की सीएम ममता बनर्जी व ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक की तारीफ भी की।

प्रभावित क्षेत्र का एक घंटे तक जायजा लिया

मोदी शुक्रवार सुबह 11:00 बजे दमदम हवाई अड्डे पर उतरे, जहां मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने उनकी अगवानी की। वहां से हेलीकॉप्टर के जरिये हवाई सर्वेक्षण करने के लिए पहुंचे थे। प्रभावित क्षेत्रों का करीब एक घंटे तक जायजा लिया। इसके बाद प्रधानमंत्री ओडिशा गए, जहां हवाई सर्वेक्षण कर चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों में नुकसान का आकलन किया।

बंगाल को एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान : ममता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में एम्फन के कारण एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बशीरहाट में प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा और समीक्षा बैठक करने के बाद उन्होंने कहा कि संकट की इस घड़ी में एक साथ काम करने की जरूरत है। बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राज्य में चक्रवात के बाद पैदा हुई स्थिति के बारे में भी जानकारी दी।

तूफान ने ली 82 की जान

ममता बनर्जी ने कहा कि तूफान की चपेट में आने से अब तक राज्य में 82 लोगों की जान जा चुकी है। उत्तर और दक्षिण 24 परगना, पूर्व और पश्चिम मिदनापुर, कोलकाता, हावड़ा और हुगली जिलों में बुनियादी ढांचे, सार्वजनिक और निजी संपत्ति को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है।

राष्ट्रपति ने ममता को दिया मदद का आश्वासन

चक्रवात से बंगाल को हुए नुकसान को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ममता बनर्जी को फोन कर उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया। इसके बाद ममता बनर्जी ने उनको धन्यवाद दिया है।

शेख हसीना बोलीं, जल्द उबर जाएगा बंगाल

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है कि उन्हें पूरा भरोसा है कि इस संकट के दौर से बंगाल जल्द ही उबर जाएगा। संकट की इस घड़ी में प्रार्थना करती हूं कि वहां के लोग इसका हिम्मत से मुकाबला करें।

ओडिशा आएगी केंद्रीय टीम

मोदी बंगाल से ओडिशा के भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर पहुंचे और वहां से वायुसेना के हेलिकॉप्टर से चक्रवात से प्रभावित जगतसिंहपुर, केंद्रापड़ा, भद्रक, बालेश्वर जिले का हवाई सर्वेक्षण किया। इसके बाद भुवनेश्वर एयरपोर्ट पहुंचे और समीक्षा बैठक की। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और राज्य के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद राज्य को 500 करोड़ रुपये आर्थिक पैकेज देने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि वास्तविक नुकसान का आकलन कर ओडिशा सरकार अपनी रिपोर्ट केंद्र को भेजेगी, उसके बाद केंद्र सरकार की एक टीम भी इसका मूल्यांकन करने ओडिशा आएगी। इसके बाद प्रदेश को जिस तरह की सहायता की आवश्यकता होगी, केंद्र सरकार उसे पूरा करेगी।

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस