मामल्‍लपुरम, एजेंसी। Narendra Modi Xi Jinping Meet LIVE चीन के राष्ट्रपति शी चिनफ‍िंग अपने दो दिवसीय भारत दौरे के तहत आज चेन्नई के प्राचीन शहर (महाबलीपुरम) मामल्लापुरम पहुंचे जहां उनकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अनौपचारिक शिखर वार्ता होगी। चीनी राष्‍ट्रपति की पीएम नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत ऐसे वक्‍त होने जा रही है जब कश्मीर के मुद्दे को लेकर दोनों देशों के बीच हालिया बयानों के कारण असहज स्थिति पैदा हो गई है।

Live Update: 

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग महाबलीपुरम के शोर मंदिर में सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद रवाना हुए।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग को अन्नम लैंप और थंजावुर स्टाइल की नृत्य करती हुई मां सरस्वती की पेंटिंग गिफ्ट की।

- चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति छात्रों द्वारा आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम का आनंद ले रहे हैं।

- महाबलीपुरम के शोर मंदिर में विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मुलाकात की।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग महाबलीपुरम के शोर मंदिर में भ्रमण कर रहे हैं।

- महाबलिपुरम: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ पंच रथ पर मौजूद हैं। पीएम मोदी और चिनपिंग नारियल पानी पी रहै हैं।

- महाबलीपुरम: पीएम नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को कृष्ण का माखन लड्डू (Krishna’s Butter Ball) के बारे में बता रहे  हैं। यह लगभग 6 मीटर ऊंची और 5 मीटर चौड़ी है। इसका वजन 250 टन है। 

- पीएम नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग को महाबलिपुरम के यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित समारकों का भ्रमण करा रहे हैं।  पल्लव राजाओं द्वारा स्थापित किए गए इन स्मारकों को 7वीं और 8वीं शताब्दी में कोरोमंडल तट के किनारे चट्टान पर उकेरा गया था।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग महाबलिपुरम में मंदिरों के समूह का दौरा कर रहे हैं। पीएम मोदी चिनपिंग को मंदिरों के बारे में बता रहे हैं। महाबलीपुरम में स्मारकों के समूह को यूनेस्को ने विश्व धरोहर स्थल के रूप में निर्धारित किया है।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ महाबलिपुरम के अर्जुन की तपस्या स्थली में मौजूद हैं।

- चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग महाबलीपुरम पहुंच गए है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीनी राष्ट्रपति का स्वागत किया। दोनों नेताओं ने एक दूसरे से हाथ मिलाया। इस दौरान पीएम मोदी पारंपरिक वेशभूषा में नजर आ रहे हैं।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीनी राष्ट्रपति के साथ दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए महाबलीपुरम पहुंचे। पीएम मोदी ने धोती पहनी हुई है।

- तमिलनाडु: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफ‍िंग चेन्नई से महाबलीपुरम के लिए रवाना। शी चिनफ‍िंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महाबलीपुरम में अपने दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के दौरान मुलाकात करेंगे।

- स्थानीय लोगों पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के स्वागत के लिए पोस्टर पकड़े खड़े हैं। दूसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए दोनों देशों के नेता महाबलीपुरम जाएंगे।

- चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग को आज डिनर में स्थानीय तमिल भोजन दिया जाएगा जिसमें थक्कली रसम, अरेचवित्ता सांभर, कडलाई कुरूमा, कावनरासी हलवा शामिल हैं।

- चीनी राष्‍ट्रपति का पारंपरिक तरीके से भव्‍य स्‍वागत किया गया। तमिलनाडु के राज्‍यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने चिनफ‍िंग की अगवानी की। 

- चीन के राष्‍ट्रपति शी चिनफ‍िंग चेन्‍नई अंतरराष्‍ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंच गए हैं। 

- चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की एक झलक पाने के लिए चेन्नई के ITC ग्रैंड चोल होटल के बाहर चीनी समुदाय के लोगों का जमावड़ा लगा है। चीन के राष्‍ट्रपति थोड़ी ही देर में चेन्‍नई एयरपोर्ट पर पहुंचेगे। 

- प्रधानमंत्री मोदी चेन्‍नई एयरपोर्ट पर पहुंचे जहां तमिलनाडु के गवर्नर और मुख्‍यमंत्री ने उनकी अगवानी की।

- महाबलीपुरम में अनौपचारिक वार्ता के लिए चीन के राष्‍ट्रपति चेन्‍नई रवाना हो चुके हैं। वह दोपहर 2.10 मिनट पर चेन्‍नई इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पहुंचेगे। 

- चीन के राष्ट्रपति शी चिनफ‍िंग चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आगमन के बाद चेन्नई के आईटीसी ग्रांड चोल होटल में पहुंचेंगे जहां सारी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। 

- महाबलीपुरम (Mamallapuram) में स्‍वागत गेट जिसे पंच रथ (Panch Rathas) उसे 18 प्रकार के फलों एवं सब्जियों से सजाया गया है। 

- चीनी राष्‍ट्रपति के लिए महाबलीपुरम की सड़कों को चमकाया जा रहा है। सड़कों से धूल साफ करते कर्मचारी... 

- चीनी राष्ट्रपति चिनफिंग का स्वागत करने के लिए 'चेंदा मेलम' (केरल का पारंपरिक आर्केस्ट्रा) के कलाकार चेन्नई एयरपोर्ट (Chennai International Airport) के बाहर पहुंच गए हैं। 

- ममल्लापुरम में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। रिपोर्टों के मुताबिक, चप्‍पे चप्‍पे पर नजर रखने के लिए 10 हजार जवानों की तैनाती की गई। चीनी राष्ट्रपति चिनफ‍िंग के स्वागत के लिए पूरे शहर को सजा दिया गया है। 

- पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफ‍िंग के बीच बैठक को देखते हुए समुद्री सुरक्षा भी कड़ी कर दी गई है। भारतीय नौसेना और इंडियन कोस्‍ट गार्ड ने किसी भी समुद्री खतरे से सुरक्षा प्रदान करने के लिए ममल्लापुरम में तट से कुछ दूरी पर युद्धपोत तैनात किए हैं।

यह है कार्यक्रमों का शेड्यूल

1- चीनी राष्‍ट्रपति दोपहर 2.00 बजे चेन्नई एयर पोर्ट पर पहुंचेंगे और होटल जाएंगे।

2- शाम 5.00 बजे प्रधानमंत्री मोदी उनको तीन ऐतिहासिक स्थलों पर लेकर जाएंगे।

3- पीएम मोदी और चिनफ‍िंग शोर टेंपल जाएंगे और सांस्कृतिक कार्यक्रम देखेंगे।

4- शोर टेंपल लॉन में बैठकर ही पीएम मोदी और शी चिनफ‍िंग बातचीत करेंगे।

5- पीएम मोदी शोर टेंपल परिसर में ही चीनी राष्ट्रपति के लिए डिनर आयोजित करेंगे।

6- शनिवार सुबह दोनों नेता फिशरमैंस कोव रिजॉर्ट में अकेले बातचीत करेंगे।

7- इसके बाद भारत और चीन के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत होगी।

8- द्वि‍पक्षीय वार्ता के बाद पीएम मोदी चीनी राष्ट्रपति के लिए लंच आयोजित करेंगे।

9- शनिवार को दोपहर 12.45 बजे चिनफिंग चेन्नई एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे।

ये भी पढ़ें: PM मोदी और चिंनफिंग की मुलाकात के लिए फलों और सब्जियों से हो रही अनोखी सजावट, देखें तस्वीरें

इस मसलों पर हो सकती है बात

सूत्रों की मानें तो इसमें व्यापार, रक्षा और सुरक्षा जैसे अहम मसलों पर व्यापक बातचीत होगी। दोनों नेता अगले 48 घंटों में तीन दौर की बातचीत करेंगे। वैसे इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि दोनों नेताओं की इस मुलाकात पर कश्मीर मसले का साया पड़ चुका है। ऐसे में माना जा रहा है कि मुलाकातों में कश्‍मीर मसले को लेकर उपजे दोनों देशों के हालिया तनाव पर भी बातचीत हो सकती है। हालांकि चीनी राजदूत सुन वीदोंग ने स्‍पष्‍ट किया है कि दोनों नेता अंतरराष्ट्रीय हालात के साथ साथ चीन और भारत के बीच संबंधों से संबंधित समग्र, दीर्घकालिक एवं रणनीतिक मुद्दों पर चर्चा करेंगे।

बातचीत से पहले दबाव बनाने की कोशिश

पीएम मोदी और शी चिनफिंग के बीच यह दूसरी अनौपचारिक बातचीत होने जा रही है। इससे पहले अप्रैल, 2018 में वुहान (चीन) में दोनों नेताओं के बीच पहली अनौपचारिक बातचीत हुई थी। विश्‍लेषकों का कहना है कि मुलाकात से ठीक पहले दोनों देशों की ओर से जिस तरह के बयान सामने आए हैं, उससे साफ है कि दोनों ही एक दूसरे पर दबाव बनाने की पूरी कोशिश में हैं। वैसे चीन के राजदूत ने कहा है कि दोनों नेताओं की इस मुलाकात से वृहद सहयोग के क्षेत्र में एक नई ऊर्जा मिलेगी। यही नहीं यह बैठक शांति और स्थिरता लाने के लिए सकारात्‍मक माहौल भी पैदा करेगी। 

ये भी पढ़ें: Xi Jinping's visit to India: कश्‍मीर पर ड्रैगन की लुकाछिपी का खेल जारी- जानें-कब क्‍या कहा

क्‍यों अहम मानी जा रही यह मुलाकात 

विश्‍लेषकों की मानें तो चीन की अर्थव्‍यवस्‍था भी सुस्‍ती के प्रभाव में है। चीन के सामने दूसरी मुश्किल अमेरिका से जारी ट्रेड वॉर को लेकर है। यही वजह है कि वह उम्‍मीद भरी नजरों से भारत की ओर देख रहा है। असल में चीन हर साल 76 अरब डॉलर का निर्यात करता है। अमेरिका के दरवाजे बंद करने के चलते उसका व्‍यापार प्रभावित हुआ है। मौजूदा वक्‍त में उसका व्‍यापार घाटा 63 अरब डॉलर तक पहुंच गया है। इस‍ीलिए चीन ने अपने सामानों के निर्यात के लिए भारत का रुख किया है। वह अपना व्यापार घाटा कम करके मौके को भुनाना चाहता है। उसने भारत के लिए अपना बाजार खोला है और नियमों को भी उदार बनाया है। शायद ऐसी ही उम्‍मीद वह भारत से भी कर रहा है। 

भव्‍य स्‍वागत की तैयारियां

मामल्लापुरम में  चीनी राष्ट्रपति शी चिनफ‍िंग के स्वागत के लिए व्‍यापक तैयारियां की गई हैं। चीन के राष्‍ट्रपति जब चेन्नई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे तो वहां उनके के स्‍वागत में चेंडा मेलम (केरल का पारंपरिक आर्केस्ट्रा) कलाकार अपनी प्रस्‍तुति देंगे। चेन्‍नई एयरपोर्ट के गेट को जो भव्‍यता दी गई है, वह देखते ही बनती है। पीएम मोदी चीनी राष्‍ट्रपति को अर्जुन की तपस्या, पांच रथ, समुद्र किनारे स्थित मंदिर ले जाएंगे जहां भव्‍य साजसज्‍जा की गई है। यही नहीं मोदी शी चिनफिंग को तकरीबन 1300 वर्ष पूर्व पहाड़ों को काट कर बनाये गये गुफाओं और भित्त चित्रों के दर्शन कराएंगे। देर शाम एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन है जिसमें भारत और चीन के रिश्तों की प्रस्‍तुती होगी। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप