नई दिल्ली, एएनआइ। PM नरेंद्र मोदी शुक्रवार को ओडिशा पहुंचे और चक्रवात अम्‍फान से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। इससे पहले अपने बंगाल दौरे के दौरान एम्फन तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल की तत्काल सहायता के लिए केंद्र सरकार द्वारा 1000 करोड़ रुपये का ऐलान खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। बंगाल के तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद पीएम मोदी ने एक समीक्षा बैठक की। इस समीक्षा बैठक के बाद प्रधानमंत्री ने उक्‍त ऐलान किया। 

High Lights of PM Modi Bengal-Odisha Visit 

- पीएम मोदी ने शुक्रवार को ओडिशा में CycloneAmphan से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण किया। इस दौरान सीएम नवीन पटनायक और राज्‍यपाल गणेशी लाल मौजूद थे। प्रधानमंत्री ने ओडिशा को मदद के तौर पर 500 करोड़ रुपये के वित्तीय पैकेज का एलान किया। राज्‍य में तूफान से मरने वालों के परिजनों को 2 लाख रुपये जबकि घायलों को 50,000 रुपये की की सहायता राशि दी जाएगी। प्रधानमंत्री मोदी ने इसकी भी घोषणा की है। 

- पीएम मोदी ने कहा कि तूफान से ओडिशा में हुए नुकसान के मसले पर हमने आज एक समीक्षा बैठक की। तत्काल आवश्यकता को ​देखते हुए हमने ओडिशा को 500 करोड़ रुपये एडवांस व्यवस्था के तौर पर देने का फैसला किया है। केंद्र की ओर से ओडिशा को हर संभव सहायता प्रदान की जाएगी।

- ओडिशा के लिए पीएम मोदी ने 500 करोड़ की मदद का किया एलान किया है। 

- ओडिशा में Cyclone Amphan के कारण प्रभावित क्षेत्रों के हवाई सर्वेक्षण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भुवनेश्वर में वरिष्ठ अधिकारियों और राज्य मंत्री के साथ एक समीक्षा बैठक की। इस बैठक में मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और प्रताप सारंगी भी मौजूद रहे। 

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओडिशा के तटीय जिलों में चक्रवात के कारण होने वाले नुकसान का जायजा लेने के लिए हवाई सर्वेक्षण किया। प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल प्रो. गणेशी लाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक भी मौजूद थे। वहीं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और प्रताप सारंगी ने एक अलग हेलिकॉप्टर से उड़ान भरी। (स्रोत- IANS)

- दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तूफान प्रभावित पश्चिम बंगाल और ओडिशा के प्रति एकजुटता प्रदर्शित करते हुए दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों को मदद करने की पेशकश की है।  

- चक्रवात अम्‍फान से पश्चिम बंगाल में भारी तबाही हुई थी जिसे देखते हुए पीएम मोदी ने एक हजार करोड़ रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा की है। ओडिशा में इस चक्रवात से अपे‍क्षाकृत कम नुकसान देखने को मिला है। 

- ओडिशा में चक्रवात अम्फान प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक हुए रवाना।  

- PM नरेंद्र मोदी ओडिशा पहुंच गए हैं। पीएम नरेंद्र मोदी का भुवनेश्वर एयरपोर्ट पर सीएम नवीन पटनायक और राज्यपाल गणेशी लाल ने स्वागत किया। पीएम तूफान से प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे।

- ममता बनर्जी ने कहा कि उन्होंने (पीएम) ने आपातकालीन निधि के लिए 1000 करोड़ रुपये की घोषणा की, लेकिन उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि यह अग्रिम होगा या पैकेज। उन्होंने कहा कि वह बाद में फैसला करेंगे लेकिन उन्होंने कहा कि यह अग्रिम भी हो सकता है। मैंने कहा कि आप जो भी फैसला करेंगे, हम आपको विवरण देंगे।

उन्होंने कहा कि हमने लोगों की मदद की है इसलिए हमने राहत कार्य शुरू किया है। मैंने पीएम से कहा कि हम खाद्य सब्सिडी, सामाजिक योजनाओं और केंद्रीय योजनाओं के बारे में जहां भी हमारा पैसा है, केंद्रीय सरकार से 53,000 करोड़ रुपये मिलेंगे। इसलिए मैंने कहा कि आप हमें कुछ पैसे देने की कोशिश करें ताकि हम इस संकट में काम कर सकें

- प्रधानमंत्री मोदी ने यहां ममता सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि कोरोना वायरस से निपटने के लिए शारीरिक की आवश्यकता होती है, जबकि एम्फन तूफान से जूझने के लिए लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में जाने की आवश्यकता होती है। इन विरोधाभासों के बावजूद, ममता जी के नेतृत्व में पश्चिम बंगाल अच्छी तरह से लड़ रहा है। हम इन प्रतिकूल समय में उनके साथ हैं।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तूफान से प्रभावित लोगों के लिए मुआवजे की भी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि तूफान में मारे गए लोगों के परिजनों को 2 लाख रुपए और गंभीर रूप से घायल लोगों को 50 हजार रुपए दिए जाएंगे।

- पीएम मोदी ने कहा कि तूफान से प्रभावित क्षेत्रों की वर्तमान स्थिति के कारण हुए नुकसान के बारे में विस्तृत सर्वेक्षण करने के लिए केंद्रीय सरकार द्वारा टीम भेजी जाएगी। पुनर्वास और पुनर्निर्माण से संबंधित सभी पहलुओं पर ध्यान दिया जाएगा। हम सभी चाहते हैं कि पश्चिम बंगाल आगे बढ़े।

- मैं पश्चिम बंगाल के अपने भाइयों और बहनों को विश्वास दिलाता हूं कि इन कठिन समय में पूरा देश आपके साथ खड़ा है- पीएम नरेंद्र मोदी

- एम्फन तूफान से प्रभावित पश्चिम बंगाल की तत्काल सहायता के लिए केंद्र सरकार द्वारा 1000 करोड़ रुपये का पैकेज दिया गया है। पीएम मोदी ने इसकी जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र की ओर से बंगाल की सहायता के लिए 1000 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

- मई के महीने में, देश चुनावों में व्यस्त था और उस समय हमें एक चक्रवात का सामना करना पड़ा जिसने ओडिशा को नुकसान पहुँचाया। अब, एक साल के बाद, इस चक्रवात ने हमारे तटीय क्षेत्रों को प्रभावित किया है। पश्चिम बंगाल के लोग इससे सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि राज्य और केंद्र सरकारें उन लोगों के साथ खड़ी हैं, तूफान से प्रभावित हैं

- बंगाल के तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद पीएम मोदी ने एक समीक्षा बैठक की है।सीएम ममता बनर्जी, राज्यपाल जगदीप धनखड़ और राज्य के अन्य अधिकारियों के साथ एम्फन तूफान पर पीएम नरेंद्र मोदी ने बशीरहाट में समीक्षा बैठक की है।

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में चक्रवाती तूफान एम्फन से प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया। इस दौरान उनके साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल धनकड़ भी मौजूद रहे। एम्फन तूफान के कारण बंगाल में अब तक कुल 80 लोगों की मौत हो चुकी है।

- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को धन्यवाद करते हुए कहा कि मैं मैं ईमानदारी से राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद जी को धन्यवाद देती हूं, क्योंकि एम्फन चक्रवात की वजह से संकट के इस अभूतपूर्व समय में बंगाल के लोगों के लिए अपने समर्थन और चिंताओं को व्यक्त करने के लिए व्यक्तिगत रूप से आपने मुझे फोन किया। हम बेहद आभारी हैं।

- पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता हवाई अड्डे पर कहा कि एम्फन चक्रवात को राष्ट्रीय आपदा माना जाना चाहिए। उन्होंने साथ ही कहा कि अब तक हमें जानकारी मिली है कि 80 लोगों की मौत हो चुकी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एम्फन से हुई तबाही का जायजा लेने के लिए शुक्रवार(22 मई) को सुबह 10.45 बजे कोलकाता पहुंचे। उनका विमान कोलकता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचा, जहां  राज्यपाल जगदीप धनखड़  और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उनका स्वागत किया। इसके बाद वे हेलीकॉप्टर से तूफान प्रभावित बसीरहाट पहुंचेंगे। खबर है कि इस दौरान हेलीकॉप्टर में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी साथ रहेंगी।

पीएम मोदी के हवाई सर्वेक्षण यात्रा में केंद्रीय मंत्री (जो ओडिशा और पश्चिम बंगाल से आते हैं) धर्मेंद्र प्रधान, बाबुल सुप्रियो, प्रताप चंद्र सारंगी और देबाश्री चौधरी भी उनके साथ होंगे।

- इससे पहले पीएम मोदी दिल्ली से कोलकाता के लिए रवाना हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करीब 83 दिन(लगभग 3 महीने) के बाद किसी दौरे पर गए हैं। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लॉकडाउन से पहले 29 फरवरी, 2020 को यूपी के प्रयागराज और चित्रकूट के दौरे पर गए थे।

- प्रधानमंत्री मोदी इन राज्यों में चक्रवाती तूफान एम्फन की वजह से हुई तबाही और नुकसान का जायजा करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दोनों राज्यों के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे और समीक्षा बैठकों में हिस्सा लेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल के बाद ओडिशा भी जाएंगे। सूत्रों के मुताबिक वहां वह मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ लगभग 1.30 बजे राज्य में चक्रवाती तूफान एम्फन के कारण हुई तबाही का हवाई सर्वेक्षण करेंगे।

- बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी से राज्य का दौरा करने की अपील की थी, जिसके बाद पीएमओ के सूत्रों ने शुक्रवार को पीएम मोदी की यात्रा के बारे में जानकारी दी।पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि चक्रवात एम्फन में प्रभावित क्षेत्रों के लिए पुनर्स्थापना कार्य के लिए 1,000 करोड़ रुपये का कोष बनाया गया है, इस तूफान के कारण राज्य में 72 लोगों की मौत हुई है।उन्होंने मृतकों के परिवारों को 2.5 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। 

- इस बीच, राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (NDRF) के महानिदेशक एसएन प्रधान ने गुरुवार को कहा कि केंद्रीय गृह मंत्रालय (MHA) की एक टीम चक्रवाती अनाथ द्वारा किए गए नुकसान का मूल्यांकन करने के लिए राज्यों (ओडिशा और पश्चिम बंगाल) का दौरा करेगी।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस