नई दिल्ली, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के 74वें सत्र में कुल सत्रह मिनट का भाषण दिया। संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने आतंकवाद पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भारत ने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिया है। इसलिए आतंकवाद के खिलाफ भारत में आक्रोश दिखता है।

उन्होंने कहा कि आतंक के नाम पर दुनिया बंटी हुई है। यूएन के संदेशों को ठेस पहुंचाती है, जिनके आधार पर यूएन का गठन हुआ है। यह यूएन के सिद्धांतो के खिलाफ है। आतंक के खिलाफ पूरे विश्व का एकजुट होना मैं अनिवार्य समझता हूं। विश्व का स्वरूप बदल रहा है। 21वीं सदी की आधुनिक टेक्नोलॉजी, समाजिक, निजी और हर क्षेत्र में परिवर्तन ला रही है। ऐसे में एक बिखरी हुई दुनिया ठीक नहीं है।

पीएम मोदी ने कहा कि हम उस देश के वासी हैं, जिन्होंने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिए हैं, शांति का संदेश दिया है। हमारे देश की संस्कृति हजारों वर्ष पुरानी है, जिसकी अपनी जीवंत परंपराएं हैं, जो वैश्विक सपनों को अपने में समेटे हुए है। हमारे संस्कार, हमारी संस्कृति, जीव में शिव देखती है।

संयुक्त राष्ट्र महासभा के संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने विवेकानंद का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि करीब सवा सौ साल पहले भारत के आध्यात्मिक गुरु स्वामी विवेकानंद ने शिकागो में विश्व धर्म संसद को शांति और सौहार्द का संदेश दिया था। उन्होंने कहा कि सबसे बड़े लोकतंत्र भारत का आज भी दुनिया के लिए संदेश है शांति और सौहार्द।

जल सरंक्षण को बढ़ावा देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अगले 5 वर्षों में हम 15 करोड़ घरों को पानी की सप्लाई से जोड़ने वाले हैं। 2022 में जब भारत अपनी स्वतंत्रता के 75 वर्ष का पर्व मनाएगा, तब तक हम गरीबों के लिए 2 करोड़ और घरों का निर्माण करने वाले हैं।

यह भी पढ़ें: PM Narendra Modi UNGA Speech Key Highlights: हमने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिए

यह भी पढ़ें : PM Narendra Modi Speech in UN- पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

यह भी पढ़ें : जानिए कौन हैं कवि कनियन पुंगुनद्रनार, PM Modi ने UNGA में दोहराई जिनकी पंक्तियां

यह भी पढ़ें : Modi In UN: 17 मिनट में पीएम ने उठाए 17 मुद्दे, विशेषज्ञों से जानें उसके पीछे का संदेश

UNGA की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप