नई दिल्ली, एएनआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तमिलनाडु के महाबलीपुरम में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ अनौपचारिक बातचीत के दौरान समुद्र किनारे बैठकर कविता लिखी थी। उन्होंने आज ट्विटर पर इस कविता का तमिल अनुवाद शेयर किया। पीएम मोदी ने कविता के तमिल अनुवाद की तस्वीर ट्वीट कर कहा, ' महाबलीपुरम में समुद्र तट पर मैंने एक कविता लिखी थी, ये रहा उसका तमिल अनुवाद।'

अपनी आठ-पैराग्राफ की कविता में, प्रधानमंत्री ने महासागर के सूर्य से सबंध, लहर और इसके दर्द और संयम को बताया है। उन्होंने 13 अकटूबर को ट्विटर पर इस कविता को साझा करते हुए कहा था, 'मैं महाबलीपुरम समुद्र तट पर सुबह की सैर के दौरान समुद्र के साथ बातचीत में खो गया था।'यह बातचीत मेरी भाव विश्व को व्यक्त करता है। मैं इसे कविता के रूप में आपके साथ साझा कर रहा हूं।'

महाबलीपुरम के समुद्र तट पर भी घूमते दिखे पीएम मोदी

पीएम मोदी को 12 अक्टूबर की सुबह महाबलीपुरम के समुद्र तट पर भी घूमते देखा गया था।इस दौरान उन्होंने एक तीन मिनट का वीडियो भी शेयर किया था, जिसमें वो समुद्र तट किनारेप्लास्टिक की बोतल और कूड़ा इकट्ठा करते दिखाई दिए। इस माध्यम से उन्होंने देश की जनता को स्वच्छता का संदेश दिया।बता दें कि प्रधानमंत्री ने पिछले महीने न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन के दौरान तमिल कवि कनियन पुंगुनद्रनार का जिक्र किया था।

चिनफिंग का दो दिवसीय दौरा

राष्ट्रपति शी चिनफिंग दो दिवसीय अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए भारत के दौरे पर आए थे। इस दौरान दोनों नेताओं के बीच रिश्तों में उपजने वाले छोटे-मोटे तनावों को बड़ी समस्या न बनने देने की सहमति बनी,ताकि तनाव से साझा भविष्य तलाशने की कोशिशों पर कोई असर ने पड़े। इस दौरान अगले  शिखर सम्मेलन के लिए पीएम मोदी चिनफिंग ने चीन आने के लिए आमंत्रित किया। हालांकि, इसका समय और दिन अभी तय नहीं है।चिनफिंग इसके बाद नेपाल भी गए। 

 यह भी पढ़ें: पीएम नरेंद्र मोदी का सागर से संवाद, पढ़ें- हे सागर! तुम्हें मेरा प्रणाम...

 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस