नई दिल्ली, जेएनएन। चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ शिखर वार्ता से पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने महाबलीपुरम समुद्र तट पर 'प्लॉगिंग' की। उन्होंने सुबह की सैर के दौरान समुद्र तट से प्लास्टिक का कूड़ा, पानी की बोतलें और दूसरे प्रकार का कचरा उठाकर देश को स्वच्छता का संदेश दिया। मोदी ने ट्विटर पर तीन मिनट का एक वीडियो जारी किया जिसमें वह कूड़ा एकत्र करते हुए नजर आए।

इस दौरान पीएम मोदी के हाथ में एक उपकरण दिखाई दिया। जिसके बारे में कई लोगों ने सवाल किया कि आखिर ये उपकरण क्या था? अब पीएम मोदी ने खुद इसका जवाब दे दिया है। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए बताया है कि ये एक एक्यूप्रेशर रोलर था। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि आपमें से कई लोगों ने पूछा कि महाबलीपुरम बीच पर मेरे हाथों में क्या था? यह एक एक्यूप्रेशर रोलर है जिसे मैं अक्सर इस्तेमाल करता हूं। यह काफी मददगार है।

 Since yesterday, many of you have been asking - what is it that I was carrying in my hands when I went plogging at a beach in Mamallapuram. 

It is an acupressure roller that I often use. I have found it to be very helpful. pic.twitter.com/NdL3rR7Bna

— Narendra Modi (@narendramodi) October 13, 2019

स्वच्छता के स्वस्थ से जोड़कर दिया संदेश

पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि मामल्लपुरम में सुबह समुद्र तट पर प्लॉगिंग करते हुए। यह करीब 30 मिनट तक चला। साथ ही मैंने एकत्र किया हुआ कूड़ा जयराज को थमाया जो होटल के कर्मचारी हैं।' एक अन्य ट्वीट में मोदी ने कहा, 'मामल्लपुरम में खूबसूरत तट के किनारे तरोताजा करने वाली सैर और कसरत।' उन्होंने आगे लिखा 'हम सभी यह सुनिश्चित करें कि हमारे सार्वजनिक स्थान साफ एवं सुंदर रहें। चलिए, यह भी सुनिश्चित करते हैं कि हम स्वस्थ एवं सेहतमंद रहें।'

क्या है प्लॉगिंग का मतलब

बता दें कि 'प्लॉगिंग' का मतलब जॉगिंग करते या दौड़ते वक्त प्लास्टिक की उपयोग की हुई बोतलें जैसा कूड़ा-कचरा उठाना होता है। प्रधानमंत्री के 'प्लॉगिंग' वीडियो को टैग करते हुए भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि एक सच्चा नेता उदाहरण स्थापित कर नेतृत्व करता है। हम स्वच्छता की दिशा में अथक प्रयासों के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के आभारी हैं। आइए हम उनके स्वच्छ और समृद्ध भारत के संकल्प को और आगे बढ़ाएं।

प्लास्टिक से मुक्त बनाने का अभियान

याद दिला दें कि इसी साल स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने देश को एक बार इस्तेमाल की जाने वाली प्लास्टिक से मुक्त बनाने का अभियान शुरू करने की घोषणा की थी। भारत को स्वच्छ बनाने के लिए स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत 2014 में की गई थी। यह उनका प्रिय अभियान है।

मन की बात में प्लॉगर रिपुदमन बेल्वि के प्रयासों की सराहना

29 सितंबर को अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में उन्होंने संभवत: भारत के पहले प्लॉगर रिपुदमन बेल्वि के प्रयासों की सराहना की थी जिन्होंने सुबह की सैर के दौरान कचरा उठाने का अभियान शुरू किया था। प्रधानमंत्री का कहना था कि विदेश में प्लॉगिंग पहले से चलन में है, लेकिन भारत में बेल्वि ने इसे काफी हद तक बढ़ावा दिया है। इस दौरान उन्होंने कहा था कि प्लॉगिंग को बढ़ावा देने के लिए सरकार देशभर में दो किलोमीटर की दौड़ का आयोजन भी करेगी।

 पीएम मोदी ने खुद बताया प्लॉगिंग के लाभ

इस हफ्ते की शुरुआत में भी मोदी ने प्लॉगिंग को सभी के लिए लाभकारी बताया था क्योंकि इससे फिटनेस के साथ-साथ पर्यावरण में भी सुधार होता है। एक ट्वीट में उन्होंने स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए मुंबई में प्लॉगिंग पर आधारित सामाजिक प्रयोग की प्रशंसा की थी। उनका कहना था कि ऐसे स्वंयसेवी प्रयासों में ज्यादा ताकत लगाने की जरूरत है खासकर इसलिए क्योंकि वे हमारे युवाओं को जोड़ते हैं।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस