नई दिल्ली, एजेंसियां। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन से फोन पर बातचीत की है। दोनों देशों के नेताओं ने कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के अपने अनुभवों को साझा करने के महत्व पर सहमति जताई है। पीएम मोदी ने इस मुद्दे पर बहरीन के राजा हमद बिन इसा अल खलीफा से भी फोन पर वार्ता की। आधिकारिक बयान में बताया गया कि मोदी और ऑस्ट्रेलिया के पीएम मॉरिसन ने सोमवार को कोविड-19 की वैश्विक महामारी से जंग में अपनी-अपनी सरकारों की घरेलू रणनीतियों पर चर्चा की। 

स्वास्थ्य संबंधी संकट को लेकर दोनों ने नेताओं ने द्विपक्षीय अनुभवों को साझा करने की बात कही। साथ ही मिलकर जुलकर इस दिशा में शोध करने का भी भरोसा जताया। मोदी ने ऑस्ट्रेलिया सरकार को यह आश्वासन भी दिया कि अगर लॉकडाउन के चलते कोई ऑस्ट्रेलियाई नागरिक भारत में फंस गया है तो भारत सरकार उसे सभी जरूरी सुविधाएं मुहैया कराएगी। 

दूसरी ओर, मॉरिसन ने भी भरोसा दिलाया कि ऑस्ट्रेलिया में रह रहे भारतीय छात्रों समेत भारतीयों को ऑस्ट्रेलियाई समाज का अहम हिस्सा समझा जाता रहेगा। दोनों देश भारत-प्रशांत क्षेत्र के अलावा भी एक-दूसरे के अहम साझीदार बने रहेंगे। इस बीच, प्रधानमंत्री मोदी ने बहरीन के राजा हमद बिन इसा अल खलीफा से फोन पर बातचीत में कोरोना के वैश्विक संकट पर चर्चा की। बहरीन के राजा खलीफा ने कहा कि वह इस संकट के दौरान बहरीन में बड़ी तादाद में बसे भारतीय समुदाय पर व्यक्तिगत रूप से ध्यान देंगे।

उल्‍लेखनीय है कि हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना वायरस से जूझने के तौर-तरीके को और प्रभावी बनाने के लिए इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू (Benjamin Netanyahu) और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के साथ टेलीफोन पर बातचीत की थी। पीएम मोदी और नेतन्‍याहू ने कोरोना के खिलाफ मौजूदा संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल के लिए गठजोड़ बनाने का फैसला किया है। दोनों नेताओं के बीच मरीजों के लिए आवश्यक दवाओं की आपूर्ति बनाए रखने और उच्च तकनीक के संसाधनों के इस्तेमाल पर बातचीत हुई थी। प्रधानमंत्री मोदी ने बीते दिनों ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो के साथ भी फोन पर बातचीत की थी। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस