नई दिल्ली,एएनआइ। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आर्थिक मंदी को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार पर निशाना साधा। मनमोहन सिंह का बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि डॉ मनमोहन सिंह को अपनी विफलताओं पर चिंतन करना चाहिए। क्यों वे एक मजबूत अर्थव्यवस्था को बनाए नहीं रख सके और एक ईमानदार सरकार दे पाए। पीयूष गोयल यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि क्यों वह इतने असहाय थे कि उन्हें 10 जनपथ से आदेशों का पालन करना पड़ा और खुद के फैसले लेने की क्षमता नहीं थी। 

दरअसल, गुरुवार को मनमोहन सिंह ने पीएमसी बैंक स्कैम को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए जोरदार हमला किया। उन्होंने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया।  मनमोहन सिंह ने आगे कहा कि मैं  मैं महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री से अनुरोध करते हूं की वह पीएमसी मामले में जांच करें। इस मामले में जो 16 लाख लोग प्रभावित हुए हैं उनकी समस्याओं का समाधान करें।

आर्थिक मंदी को लेकर कही ये बात

आर्थिक मंदी पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार राज्य में एक पार्टी की सरकार वाला मॉडल विफल हो चुका है। जिसका भाजपा द्वारा वोट के लिए सबसे ज्यादा चर्चा करती है। उन्होंने आगे कहा कि महाराष्ट्र आर्थिक सुस्ती सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। पिछले चार साल से राज्य का ग्रोथ रेट लगातार गिर रहा है। उन्होंने कहा कि ऑटो सेक्टर बुरी तरह से प्रभावित हुए है। महाराष्ट्र में हर तीसका व्यक्ति बेरोजगार है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार केवल विपक्ष को दोषी देने में लगी है। वह समाधान ढूंढने में विफल है। 

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि आर्थिक सुस्ती से भारतीयों की आकांक्षाओं  और भविष्य पर असर पड़ रहा है। सरकार की आयात निर्यात की नीति से भी समस्याएं खड़ी हो रही है। जानकारी के लिए बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बैंकों ही हालत के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ-साथ आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के कार्यकाल को जिम्मेदार ठहराया था। 

Posted By: Ayushi Tyagi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप