चेन्‍नई, एएनआइ। नागरिकता संशोधन कानून, राष्‍ट्रीय नागरिक रजिस्‍टर और राष्‍ट्रीय जनसंख्‍या रजिस्‍टर को लेकर देश के कई हिस्‍सों में विरोध जारी है। इस क्रम में तमिलनाडु में भी विरोध करते हुए लोग वालाजाह रोड से राज्‍य सचिवालय पहुंच गए। जारी विधानसभा सत्र को देखते हुए भारी संख्‍या में पुलिस बल को तैनात किया गया है।

उत्‍तर चेन्‍नई के ओल्‍ड वाशरमैनपेट में 14 फरवरी को प्रदर्शन किया गया। सोशल मीडिया पर इसे चेन्‍नई का शाहीन बाग बताया गया था।

तमिलनाडु की सत्ताधारी पार्टी AIADMK ने नागरिकता संशोधन कानून का समर्थन किया है। इसके अनुसार, इस कानून का देश के नागरिकों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। यहां के मुख्‍यमंत्री ई पलानीस्वामी ने अपील की है कि प्रदर्शनकारी सांप्रदायिक सद्भाव को बरकरार रखें। साथ ही कहा, ‘तमिलनाडु सरकार मुस्‍लिम नागरिकों के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई को मंजूरी नहीं देगी।’ यहां हजारों पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। साथ ही सोशल मीडिया पर किसी तरह के संदेश को पोस्‍ट करने से मना किया गया है। 

बता दें कि दिल्ली, राजस्थान, महाराष्ट्र समेत देश के अन्‍य राज्यों में नागरिकता कानून की वापसी के लिए मांग की जा रही है। दिल्ली के शाहीन बाग में जारी धरना प्रदर्शन को दो महीने से अधिक समय बीत गया। वहीं केरल, पंजाब, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में तो CAA के खिलाफ विधानसभा में प्रस्ताव पारित कर दिया गया है। इस क्रम में तेलंगाना सरकार भी CAA के खिलाफ प्रस्ताव पारित करने पर विचार कर रही है। इसके अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि CAA, राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) अलग-अलग हैं।

माफी मांगने से रजनीकांत ने किया इंकार, पेरियार पर की थी टिप्‍पणी जिससे मचा बवाल

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस