नई दिल्ली, प्रेट्र। केंद्रीय मंत्री और लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) नेता रामविलास पासवान ने कहा है कि इस साल के अंत में होने वाला बिहार विधानसभा चुनाव स्थानीय विकास के मुद्दों पर लड़ा जाएगा और चुनाव में भाषा पर संयम बनाए रखना होगा। भाजपा की सहयोगी पार्टी के नेता की यह टिप्पणी इसलिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि यह दिल्ली विधानसभा चुनाव अभियान के बाद आया है, जिसमें भाजपा के कुछ नेताओं ने भड़काऊ भाषण दिया था। इसके लिए चुनाव आयोग ने इन नेताओं के खिलाफ कार्रवाई भी की थी।

प्रेट्र को दिए एक साक्षात्कार में पासवान ने कहा कि बिहार में राजग एकजुट है। उन्होंने विश्वास जताया कि सत्तारूढ़ गठबंधन राज्य में दो तिहाई बहुमत से सरकार बनाएगा, क्योंकि विपक्ष डूबता जहाज है।

केंद्र सरकार में उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मामलों के मंत्री पासवान ने कहा कि लोजपा मजबूती से राजग के साथ है। मैंने हमेशा कहा है कि सड़क पर वही पशु मरता है, जो फैसला नहीं कर पाता है कि दाएं जाएं या बाएं। जहां तक नीतीशजी का सवाल है, मुझे नहीं लगता कि वे कहीं जाएंगे। विपक्ष में क्या है? लालू यादव जेल में हैं। वे बीमार हैं और शेष पार्टी अलग-अलग राग अलाप रही है। ऐसे में विपक्ष के साथ कौन जाएगा? यह डूबता जहाज नहीं है, बल्कि पहले ही डूब चुका है। वे आपस में ही लड़ रहे हैं। बिहार में कोई चुनौती नहीं है।

नेतृत्व नीतीश कुमार करेंगे राजग

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस बयान पर कि बिहार में राजग का नेतृत्व नीतीश कुमार करेंगे, पासवान ने कहा कि लोजपा को इस पर कोई आपत्ति नहीं है। दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा भड़काऊ बयान दिए जाने पर उन्होंने कहा कि लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने पार्टी का रुख स्पष्ट कर दिया था। शाह ने भी स्वीकार किया कि इसका असर संभवत: उल्टा पड़ा।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस