नई दिल्‍ली, जेएनएन। संसद के शीतकालीन सत्र का 9वां दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ गया। कंप्यूटर्स को मॉनिटर और इंटरसेप्ट करने का अधिकार, राफेल मुद्दा, दिल्‍ली में सीलिंग और कावेरी मुद्दे पर लोकसभा और राज्‍यसभा में हंगामा हुआ, जिसमें बाद कार्यवाही को स्‍थगित करना पड़ा। इस बीच स्पीकर ने सदन में बताया कि लोकसभा की कार्यवाही 24, 25 और 26 दिसंबर को नहीं चलेगी, क्योंकि क्रिसमस का पर्व मनाने के लिए कई सदस्य अपने गृह नगर जाना चाहते हैं। लोकसभा के एजेंडे में तीन तलाक से जुड़ा बिल है, इस पर चर्चा के लिए 27 दिसंबर की तारीख तय की गई है। गुरुवार को सत्र के आठवें दिन लोकसभा में उपभोक्ता संरक्षण बिल 2018 को मंजूरी दे दी गई।

शुक्रवार को भी राज्‍यसभा-लोकसभा में हुआ हंगामा

- केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा किसी तरह के कानून से खिलवाड़ नहीं हुआ है, कांग्रेस पार्टी गंभीर विषयों पर चर्चा नहीं करना चाहती है। उन्होंने कहा कि आतंकियों को पकड़ने के लिए एजेंसियां निगरानी रखनी हैं लेकिन कांग्रेस ऐसा करना नहीं चाहती है। हंगामा न थमते देख उपसभापति ने राज्यसभा की कार्यवाही गुरुवार तक के लिए स्थगित कर दी।
- समाजवादी पार्टी के सांसद रवि प्रकाश वर्मा देश में विधवाओं की स्थिति पर बोल रहे हैं. इसके लिए एक प्राइवेट मेंबर बिल लाया गया है जिसमें विधवाओं को सामाजिक हक और बराबरी का दर्जा देने की बात कही गई है।
- इसका जवाब देते हुए नेता सदन अरुण जेटली ने कहा कि जहां भी राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े मुद्दे आते हैं, वहां एजेंसियों को निगरानी का अधिकार रहा है। जेटली ने कहा कि आईटी एक्ट में भी इस जिक्र है। गृह मंत्रालाय ने 10 सेंट्रल एजेंसियों को देश के सभी कंप्यूटर्स को मॉनिटर और इंटरसेप्ट करने का अधिकार दिया है। अब ये एजेंसियों न सिर्फ आपके ईमेल बल्कि आपके कंप्यूटर में रखे हर तरह के डेटा पर नजर रख सकती हैं।
- उपसभापति ने राज्यसभा में कहा कि आज प्राइवेट मेंबर बिल पर बात होनी है इसलिए आज विधावाओं से जुड़े मुद्दे पर प्राइवेट बिल पर चर्चा होनी चाहिए। आनंद शर्मा ने कहा कि देश की 10 एजेंसियों को निगरानी की इजाजत दे दी गई है, यह हम सभी निजता का हनन है।
- हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही 27 दिसंबर सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित की गई.
- स्पीकर ने सदन में बताया कि लोकसभा की कार्यवाही 24, 25 और 26 दिसंबर को नहीं चलेगी, क्योंकि क्रिसमस का पर्व मनाने के लिए कई सदस्य अपने गृह नगर जाना चाहते हैं। लोकसभा में भारी हंगामे की बीच शून्य काल चल रहा है।
- लोकसभा में एआईएडीएमके और टीडीपी सांसद वेल में आकर नारेबाजी कर रहे हैं।
- राफेल डील, दिल्ली में सीलिंग, कावेरी मुद्दे पर कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और एआइएडीएमके सदस्यों के हंगामे के सभापति ने राज्‍यसभा की कार्यवाही 2.30 बजे तक स्थगित कर दी गई है।
- राज्यसभा में विपक्ष के उपनेता आनंद शर्मा ने कहा कि हमारी पार्टी विभिन्न मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार है. लेकिन सबसे पहले हम चाहते हैं कि नोटिस के मुताबिक राफेल डील पर सदन के भीतर चर्चा हो. उन्होंने कहा कि डील की जांच के लिए सरकार को जेपीसी जांच के लिए राजी होना चाहिए. इस पर फिर से सदम में हंगामा चालू हो गया।
- लोकसभा में टीडीपी और एआईएडीएमके सांसदों के हंगामे के चलते स्पीकर ने सदन की कार्यवाही 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी।
- राज्यसभा में सभापति ने कहा कि सदन में जो भी विषय चर्चा के लिए उनपर चर्चा कराने की कोशिश की गई है. उन्होंने कहा कि हम उच्च सदन के सदस्य हैं और इसकी मर्यादा का हमें ख्याल रखना है. सभापति ने कहा कि यह बहुत छोटा सत्र है और इसमें काफी बिल लंबित हैं, इसलिए चर्चा कर उन्हें पारित कराना चाहिए।

सत्र के आठवें दिन लोकसभा में उपभोक्ता संरक्षण बिल 2018 को मंजूरी दे दी गई। बिल पर चर्चा के दौरान केंद्रीय मंत्री पासवान ने कहा कि राज्यों के अधिकारों को पूरा ख्याल रखा गया है और उसमें किसी तरह का दखल नहीं होगा। पासवान ने कहा कि यह कानून 1986 में बना था, तब से स्थिति में इतना बदलाव आ गया लेकिन कानून पुराना ही था। इसलिए नया विधेयक लाने का फैसला लिया गया। हंगामे और नारेबाजी के बीच ध्‍वनिमत के साथ इस बिल को पास किया गया।

 

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस