नई दिल्‍ली, एएनआइ। कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण को देखते हुए संसद ने शुक्रवार को परिसर में पर्यटकों की एंट्री पर रोक लगा दी है। साथ ही लोकसभा ने एडवाइजरी जारी की है। होली के बाद दोबारा संसद की कार्यवाही 11 मार्च को शुरू होगी इसके बाद वहां पर्यटकों के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है।

संसद में अगले हफ्ते पर्यटकों के दौरे पर रोक लगा दी गई है। संसद के दोनों सदनों के लिए जारी निर्देशों के तहत पर्यटकों को कड़े प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा। घातक कोरोना वायरस के खिलाफ संसद के सदस्‍यों की सुरक्षा को देखते हुए यह फैसला किया गयाहै। सांसदों से मिलने आने वालों को रिसेप्‍शन पर केवल एक घंटे तक रुकने की अनुमति है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जारी अनेकों एडवाइजरी के तहत एहतियात बरता जा रहा है। इन एहतियातों में हाथों व श्‍वसन संबंधित तमाम कदम उठाए जा रहे हैं। संसद भवन के भीतर भीड़ के जमा होने से मना किया गया है। यह निर्देश राज्‍यसभा, लोकसभा व राजनीतिक दलों के कार्यालयों में भी भेजा गया है।

कोरोना वायरस को लेकर सरकार ने पहले ही एडवाइजरी जारी कर दी है। संसद में भी इसका असर गुरुवार से ही देखने को मिल रहा है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन ने दोनों सदनों में कोरोना वायरस को लेकर बयान दिया और बताया कि देश में इससे निपटने की पूरी तैयारी कर ली गई है। हालांकि सांसदों ने लोगों से सतर्कता बरतने की सलाह देते हुए यह भी कहा कि माहौल में दहशत न फैलाएं। अमरावती से सांसद नवनीत राणा बुधवार को मास्क लगाकर संसद में पहुंची वहीं कई सांसद सैनिटाइजर के साथ दिखे। संसद के सुरक्षा गार्ड भी हाथ में ग्‍लव्‍स पहने और चेहरे पर मास्‍क लगाए दिखे।

Parliament Budget Session: लोकसभा व राज्‍यसभा 11 मार्च तक स्‍थगित, हंगामे की जांच के लिए निचले सदन में कमेटी गठित

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस