नई दिल्ली, एएनआइ। कर्नाटक में जारी राजनीतिक संकट के मुद्दे पर आज लोकसभा में कांग्रेस के सदस्यों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। आज जैसे ही निचले सदन की कार्यवाही शुरू हुई, कांग्रेस सदस्य ने कर्नाटक के हालात पर बात करना चाहते थे लेकिन स्पीकर ओम बिड़ला ने उनके अनुरोध को स्वीकार नहीं किया। लेकिन अध्यक्ष प्रश्नकाल के साथ जैसे ही आगे बढ़े।  कांग्रेस के सदस्य वेल में चले गए, उनके साथ DMK के लोग भी शामिल हुए।कांग्रेस, DMK और कुछ अन्य पार्टियों के कुल 30 से अधिक सदस्य 15 मिनट से अधिक के लिए वेल में थे। कांग्रेस नेताओं ने इस दौरान  'सेव डेमोक्रेसी' कहते हुए तख्तियां दिखाईं और 'हमें न्याय चाहिए ’ जैसे नारे लगाए।

विरोध करने वाले सदस्यों के अनुरोधों को अनसुना करने के बाद स्पीकर ओम बिड़ला ने अंत में कहा कि अवसर जुटाने के लिए दिया जाएगा, जिसके बाद सदस्य अपनी सीटों पर लौट आए। कर्नाटक विधानसभा में जारी सियासी नाटक का आज दूसरा दिन है। जहां एक तरफ सबकी नजरें कर्नाटक विधानसभा में होने वाली बहस पर टिकी हैं, वहीं लोकसभा में भी कांग्रेस नेताओं का हंगामा जारी है।

कर्नाटक के 'संकट' में आज क्या हुआ ?
कर्नाटक में सियासी नाटक अभी भी जारी है।  आज विधानसभा की कार्यवाही चल रही है और स्‍पीकर ने कहा है कि वह फ्लोर टेस्‍ट को लेकर वोटिंग में देर नहीं कर रहे हैं। वहीं राज्यपाल वजूभाई वाला ने भी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जदएस गठबंधन सरकार को बहुमत साबित करने के लिए आज यानी शुक्रवार दोपहर 1.30 बजे तक का वक्‍त दिया है। अब नजरें विधानसभा अध्‍यक्ष पर हैं कि वह आज भी शक्ति परीक्षण कराते हैं या नहीं।

विधायकों को दिए गए 40 से 50 करोड़ के ऑफर
कुमारस्‍वामी ने विधानसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने सत्‍ता के दुरुपयोग की कोशिश नहीं की। जब से हमारी सरकार आई है तभी से इसे हटाने के लिए माहौल बनाया जा रहा है। आइये बहस करिये। आप भी सरकार बना सकते हैं। इसमें जल्‍दबाजी की जरूरत नहीं है। आप सोमवार या मंगलवार को भी ऐसा कर सकते हैं। यदि भाजपा अपनी संख्या के बारे में बिल्‍कुल आश्‍वस्‍त है तो एक दिन में विश्वास मत विवाद को खत्म करने की जल्दबाजी क्यों दिखा रही है। मैं सत्ता का दुरुपयोग नहीं करने जा रहा हूं। मुख्‍यमंत्री ने भाजपा पर दल बदल रोधी कानून के उल्‍लंघन का आरोप भी लगाया। हमारे विधायकों को लुभाने के लिए 40 से 50 करोड़ रुपये की पेशकश की गई। यह पैसे किसके हैं। हमारी पार्टी के विधायक श्रीनिवास गौडा (Srinivas Gowda) ने आरोप लगाया है कि उन्‍हें भाजपा की ओर से सरकार गिराने के लिए पांच करोड़ रुपये का ऑफर दिया गया। 

कर्नाटक में जारी सियासी संकट के बीच कांग्रेस ने कर्नाटक की वर्तमान राजनीतिक स्थिति को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।वहीं तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के सांसद सौगत रे ने कर्नाटक के विधायकों के अपहरण को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है।

'लोकतांत्रिक संस्थानों पर अतिक्रमण' को लेकर कांग्रेस के छह सांसदों ने लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है। वहीं आज राज्यसभा में मुंबई में हुए इमारत हादसे (Mumbai Building Collapse) को लेकर राज्यसभा में कांग्रेस सांसद हुसैन दलवई ने ज़ीरो आवर नोटिस दिया है। इस मुद्दे पर आज राज्यसभा में चर्चा होगी।

वहीं आज राज्यसभा में जनता दल (युनाइटेड) के सांसद राम नाथ ठाकुर ने राज्यसभा में 'बिहार में बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने' के लिए जीरो आवर नोटिस दिया है। लिहाजा आज राज्यसभा में बिहार में बाढ़ की स्थिति पर चर्चा होने वाली है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस