नई दिल्‍ली, जेएनएन। पाकिस्‍तान अपनी 'नापाक' हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तानी विमानों की घुसपैठ की कोशिश को नाकाम कर दिया है। इंडियन एयर डिफेंस रडार्स पर दो पाकिस्तानी जेट की हलचल का पता चला। बीती रात पुंछ सेक्टर में एलओसी से 10 किमी की दूरी पर दो जेट आने की जानकारी मिली। सभी इंडियन एयर डिफेंस और रडार सिस्टम हाई अलर्ट पर कर दिए गए हैं। वायुसेना जवाबी कार्रवाई के लिए बिल्‍कुल तैयार है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सेना को 'फ्री हैंड' दे चुके हैं। ऐसे में सेना पाकिस्‍तान को एलओसी पर मुंहतोड़ जवाब दे रही है। लेकिन पाकिस्‍तान को शायद समझ नहीं आ रहा है कि उसको इन हरकतों गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। पीएम मोदी इसकी चेतावनी पाकिस्‍तान को दे चुके हैं।

26 फरवरी को पाकिस्‍तान के बालाकोट आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्‍मद के ठिकानों को ध्‍वस्‍त कर भारत अपने इरादे जाहिर कर चुका है। सेना ने भी साफ कर दिया है कि आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन जारी रहेगा। दरअसल, कश्‍मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर जैश बहुत बड़ी गलती कर चुका है, जिसका खामियाजा उसे चुकाना पड़ रहा है। सेना हर मोर्चे पर पाकिस्‍तान को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। अतंरराष्‍ट्रीय मंच पर भी भारत ने पाकिस्‍तान को अलग-थलग कर दिया है। अमेरिका और फ्रांस जैसे देश पाकिस्‍तान को कड़े शब्‍दों में आतंकवादियों का साथ छोड़ने को कह चुके हैं। ऐसे में पाकिस्‍तान बौखलाया हुआ है।

'नया पाकिस्‍तान' का दावा करने वाले इमरान खान की कथनी और करनी में अंतर साफ नजर आ रहा है। पाकिस्‍तान की हरकतों से साफ नजर आ रहा है कि वो सुधनने का सिर्फ ढोंग कर रहा है। एक आंकड़े के मुताबिक, 26 फरवरी से अबतक पाकिस्तान 80 बार सीजफायर का उल्लंघन कर चुका है और आम लोगों को निशाना बना रहा है। ऐसे में बॉर्डर पर रहने वाले लोग दहशत में जिंदगी गुजार रहे हैं। बॉर्डर सटे गांवों को तो ऐसे में खास निर्देश दिए गए हैं कि अगर जरूरत न हो तो घर से बाहर न निकलें। आर्मी सूत्रों के अनुसार, 2018 में एलओसी पर 1629 सीजफायर का उल्लंघन हुआ है। इस साल एलओसी पर अब तक 478 सीजफायर हो चुके हैं।

हाल ही में पुलवामा हमले का मास्टरमाइंड त्राल में मारा गया। सेना ने बताया कि मुदस्सिर और कामरान ही पुलवामा आतंकी हमले के मास्टरमाइंड थे। दोनों मारे जा चुके हैं। दोनों साजिशकर्ता थे। सेना ने कहा कि पिछले 70 दिनों में 44 आतंकी मारे गए जबकि पुलवामा हमले के बाद 18 आतंकी मारे गए। 18 में से 14 आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के थे।

जम्मू संभाग में नियंत्रण रेखा पर दो दिन की चुप्पी के बाद पाकिस्तान ने बुधवार को पुंछ जिले के गुलपुर सेक्टर के करमाड़ा में गोले दाग कर दहशत फैला दी। दो गोले पुंछ के चकना दे बाग के दो गोले क्रास एलओसी व्यापार केंद्र पर गिरे जिससे करीब तीन घंटे तक व्यापार बंद रहा। बुधवार सुबह साढ़े दस बजे के करीब पाकिस्तान की ओर से सेना की चौकियों व रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोले दागना शुरू कर दिए। इस गोलाबारी से अफरा तफरी का माहौल बन गया। लोग जाने बचाने के लिए सुरक्षित जगहों की ओर दौड़ पड़े। इस दौरान पाकिस्तान सेना की ओर से दागे गए दो गोले क्रास एलओसी व्यपार केंद्र पर भी गिरे। दोपहर करीब एक बजे तक सीमा पार से यह गोलाबारी जारी रहने से ट्रकाें की आवाजाही बंद रही। इस गाेलाबारी में किसी नुकसान की फिलहाल कोई सूचना नही है। भारतीय सेना ने इस गोलाबारी का कड़ा जवाब दिया। दोपहर एक बजे के करीब गोलाबारी बंद हो गई। ऐसे में कुछ देर इंतजार करने के बाद सामान से लदे ट्रकों की आवाजाही शुरू हो गई।

पाकिस्तान ने अखनूर के प्लांवाला के पंजतूत, पलातन गांवों में भी गोलियां दागी। कुछ गोलियां लोगों के घरों में भी लगी। मंगलवार देर रात को हुई इस गोलीबारी से क्षेत्र में लोग डरे हुए हैं। पाकिस्तान के तेवर देखते हुए सेना, सीमा सुरक्षाबल की ओर से सीमांत लोगों को एहतियात बरतने के निर्देश दिए गए हैं। इससे पहले पाकिस्तान ने रविवार को भी जम्मू संभाग के पुंछ व कश्मीर के उड़ी में गोले दाग कर दहशत फैला दी थी। इस गाेलाबारी में उड़ी में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया था जबकि चार लोग घायल हुए थे।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप