वाशिंगटन, प्रेट्र। अमेरिका के साथ पहली टू प्लस टू वार्ता के एक हफ्ते बाद भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल अमेरिका पहुंचे हैं। वह यहां ट्रंप प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों से मुलाकात करेंगे। दोनों देशों के बीच गत छह सितंबर को दिल्ली में हुई वार्ता बेहद सफल रही। इसमें 'कॉमकासा' करार किया गया। इसके बाद अमेरिका के लिए भारत का महत्व नाटो (नॉर्थ अटलांटिक ट्रीटी ऑर्गेनाइजेशन) सदस्य देश की तरह हो गया है।

इस दौरे पर डोभाल का अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो और एनएसए जॉन बोल्टन से मुलाकात का कार्यक्रम है। इसके अलावा वह रक्षा विभाग के अन्य शीर्ष अधिकारियों और थिंक टैंक से जुड़े लोगों से भी मिल सकते हैं। इन मुलाकातों में अफगानिस्तान-पाकिस्तान क्षेत्र में द्विपक्षीय और सुरक्षा खासतौर पर आतंकवाद से मुकाबले के मसले पर चर्चा हो सकती है।

वाशिंगटन स्थित भारतीय दूतावास और व्हाइट हाउस ने डोभाल के दौरे और उनके कार्यक्रम के बारे में कोई सीधा जवाब नहीं दिया। इस बारे में पूछे जाने पर विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नौअर्ट ने कहा, 'भारत, अमेरिका का करीबी मित्र है। दोनों देशों के लोगों के बीच गहरे संबंध हैं। अमेरिका में 30 लाख से ज्यादा भारतवंशी रहते हैं। इसलिए यकीनन हम इन मुलाकातों और बातचीत का हिस्सा हैं।'

Posted By: Manish Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप