नई दिल्ली,एएनआई। अपने विवादित बयानों से कांग्रेस के लिए मुश्किलें पैदा करने वाले पार्टी नेता मणिशंकर अय्यर ने एक और विवादित टिप्पणी की है।  दिल्ली के शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ धरने में पहुंचे कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने लोगों को संबोधित करते हुए अय्यर ने कहा कि जो भी कुर्बानियां देनी हों, इसमें मैं भी शामिल होने को तैयार हूं। अब देखें कि किसका हाथ मजबूत है, हमारा या उस कातिल का। बाद में जब कुछ पत्रकारों ने उनसे पूछा कि वह किसे 'कातिल' कह रहे थे तो वह सवालों को टाल गए। इससे पहले वह नरेंद्र मोदी के लिए 'नीच' और 'चायवाला' शब्द का इस्तेमाल कर चुके हैं।

#WATCH Congress leader Mani Shankar Aiyar at the protest against #CAA & #NRC, in Delhi's Shaheen Bagh: Jo bhi qurbaniyan deni hon, usme main bhi shaamil hone ke liye tayaar hun. Ab dekhein ki kiska hath mazboot hai, hamara ya uss kaatil ka? pic.twitter.com/ojV4QU9dMs

— ANI (@ANI) January 14, 2020

 बता दें कि शाहीन बाग में करीब पिछले 1 महीने से प्रोटेस्ट चल रहा है। सोमवार को कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर शामिल हुए। शाहीन बाग में नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर लोग पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं जिसमे महिलाओं की संख्या अधिक है। इस प्रदर्शन की चर्चा पूरे देश में हो रही है क्योंकि दिल्ली की सर्द रातों में भी इन महिलाओं का हौसला टूट नहीं रहा है। अब CAA और NRC के विरोध में हो रहे प्रदर्शन में कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर भी सोमवार को पहुंचे। इससे पहले कांग्रेस नेता शशि थरूर भी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा के साथ दिल्ली के जामिया कॉलेज में प्रदर्शन कर रहे छात्रों के बीच पहुंचे थे।

370 हटाने पर कहा था- कश्मीर को बना दिया फिलीस्तीन

इससे पहले जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने पर प्रतिक्रिया देते हुए मणिशंकर अय्यर ने कहा था कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह की जोड़ी ने देश के उत्तरी बॉर्डर पर एक फिलीस्तीन बना दिया है। मणिशंकर अय्यर ने एक अखबार में लिखे एक लेख में कहा था कि मोदी-शाह ने ये पढ़ाई अपने गुरु बेंजामिन नेतान्याहू और यहूदियों से ली है। कांग्रेस नेता ने कहा है कि मोदी और शाह ने इनसे सीखा है कि कश्मीरियों की आजादी, गरिमा और आत्म सम्मान को कैसे रौंदना है?

मणिशंकर अय्यर ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने की तीखी आलोचना की थी। एक लंबे लेख में अय्यर ने लिखा था कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने अभी-अभी हमारे उत्तरी बॉर्डर पर एक फिलीस्तीन बना दिया है, ऐसा करने के लिए उन्होंने पहले घाटी में पाकिस्तानी हमले का झूठा प्रपंच रचा, ताकि 35 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती उस जगह पर की जा सके जहां पहले से ही लाखों जवान मौजूद हैं।

अय्यर के 'नीच' और 'चायवाला' बयान से कांग्रेस को उठाना पड़ा था नुकसान

ऐसा लगता है कि कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर अपनी पार्टी को नुकसान पहुंचाने के मोर्चे पर हैं। इस तरह कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर विवादास्पद बयान देकर कांग्रेस को मुश्किल में डाल दिया है। इसके पहले वे कई बार ऐसा कर चुके हैं। 2014 लोकसभा चुनाव में उन्होंने पीएम मोदी को चायवाला बताया था, जिसका कांग्रेस को काफी नुकसान उठाना पड़ा था। इसके बाद भी अय्यर अपनी पार्टी को नुकसान पहुंचाने में पीछे नहीं रहे और गुजरात विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी को 'नीच इंसान' बता दिया। इसके बाद पीएम मोदी ने गुजरात में एक जनसभा में इसका जवाब देते हुए कहा कि आपने हमें नीच कहा, निचली जाति का कहा। ये चुनाव नतीजे ही दिखाएंगे कि गुजरात के बेटे को ऐसा कहना कितना भारी पड़ेगा। और गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को पराजय का सामना करना पड़ा।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस