नई दिल्ली (जेएनएन)। दिल्ली में आम आदमी पार्टी (आप) के दो कॉल सेंटर पर छापेमारी से पार्टी बौखला गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्विट कर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। इस कार्रवाई के खिलाफ उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया चुनाव आयोग पहुंच गए हैं।

सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि मैं चुनाव आयोग के बाहर खड़ा हूं और चुनाव आयोग से मिलने के लिए इंतजार कर रहा हूँ। जब तक चुनाव आयुक्त नहीं मिलेंगे तब तक मैं निर्वाचन सदन के बाहर इंतज़ार करूंगा। इससे पहले भी सिसोदिया ने ट्वीट किया कि हमारे कॉल सेन्टर पर पुलिस की रेड करा दी गई है। पिछले चार दिनों में यह तीसरी रेड है। आज सुबह ही मैं इलेक्शन कमीशन से मिलकर आया था। उसके एक घंटे में कॉल सेंटर पर पुलिस की रेड फिर पड़ गई। इससे साफ है कि इलेक्शन कमीशन हमारा सारा डेटा मोदी जी को देना चाहता है। मैं फिर इलेक्शन कमीशन जा रहा हूँ।

वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सभी सभी विधायकों और कार्यकर्ताओं से चुनाव आयोग पहुंचने की अपील किया है। आज चुनाव आयोग को बताना पड़ेगा कि हमारे ऊपर रेड क्यों करवाई जा रही हैं। हमारा कसूर क्या है?

इससे पहले बुधवार को सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर हमला बोला था। केजरीवाल ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि आज सुबह हमारे दो कॉल सेंटर पर अमित शाह ने दिल्ली पुलिस की रेड कराई। अब सभी कॉल सेंटर मालिकों को थाने में बुलाकर धमकाया जा रहा है। कहा जा रहा है कि आम आदमी पार्टी के लिए काम बंद कर दो। उन्होंने अमित शाह से पूछा कि कॉल सेंटर वालों को क्यों तंग कर रहे हैं? हिम्मत है तो उन्हें गिरफ्तार करें।

केजरीवाल ने अगले ट्वीट में लिखा- शाह गुंडागर्दी पर उतर आए हैं। उनके इशारे पर दिल्ली पुलिस हमारे कॉल सेंटर बंद करने की धमकी दे रही है। लाखों जिंदा लोगों के नाम वोटर लिस्ट से कटवा दिए। हमने उनके नाम जुड़वाए। केजरीवाल ने एक और ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री जी, आपके लोग लाखों लोगों के नाम वोटिंग लिस्ट से कटवाकर उन्हें वोट करने से रोक रहे हैं।

इस मामले में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पिछले दिनों भाजपा ने चुनाव आयोग के साथ मिलकर असंवैधानिक तरीके से दिल्ली की मतदाता सूची से 30 लाख लोगों के नाम काट दिए थे। इस षड्यंत्र का मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पता चला तो उन्होंने जांच करवाई। जांच में बात को सच पाया। मनीष ने कहा जब आम आदमी पार्टी इस बात को स्वीकार करती है कि यह मुहिम पार्टी चला रही है। कॉल सेंटरों के जरिए लोगों को सूचना देने का काम किया जा रहा है, तो भाजपा क्यों पुलिस के जरिए कॉल सेंटरों के मालिकों को परेशान कर रही है?

Posted By: Sanjeev Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप