मुंबई, एएनआइ। भारत के खिलाफ झूठा प्रचार कर रहा पाकिस्तान का असली चेहरा पूरे विश्व के सामने उजागर हो चुका है। पूरी दुनिया में अलग थलग पड़े चुके पाकिस्‍तान को कश्‍मीर मसले पर भी विश्विक पटल पर तरजीह नहीं मिली है। एक तरफ जहां पूरा विश्व भारत के साथ खड़ा है, वहीं भारत में ही कुछ ऐसे लोग हैं जो पाकिस्तान की तरफदारी करते नहीं थकते। इस कड़ी मेंं अब नेशनल कांग्रेस पार्टी (NCP) के प्रमुख शरद पवार का नाम भी जुड़ गया है।

शरद पवार ने विवादित बयान देते हुए कहा कि देश का शासक वर्ग राजनीतिक लाभ के लिए पाकिस्तान को लेकर लगातार झूठ बोल रहा है। पाकिस्तान के खिलाफ ये बयान बगैर वास्तविक स्थिति जाने केवल राजनीतिक लाभ के लिए दिए जाते हैं। हमारे यहां लोग कहते हैं कि पाकिस्तान के लोग अन्याय झेल रहे हैं, लेकिन ये बयान सच नहीं हैं। 

रिश्तेदारों जैसा व्यवहार करते हैं पाकिस्तानी
शरद पवार यहीं नहीं रूके उन्होंने पाकिस्तान की तारिफ करते हुए कहा ' मैं पाकिस्तान गया था, वहां मेरी काफी खातिरदारी हुई। पाकिस्तानी ये मानते हैं कि बेशक वह भारत अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए नहीं आ सकते, लेकिन वह भारतीयों के साथ अपने रिश्तेदारों जैसा व्यवहार ही करते हैं। बहरहाल शरद पवार पहले ऐसे नेता नहीं हैं, जिनका पाकिस्तान के प्रति प्रेम उमड़ा हो। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी पाकिस्तान के हित में बयान दे चुके हैं। राहुल का बयान उनपर भारी पड़ गया था। पाकिस्तान ने उनके इस बयान को अपने झूठ सहारा बनाया था। 

राहुल का बयान
पाकिस्‍तान ने संयुक्‍त राष्‍ट्र में कश्‍मीर मसले को उठाने के लिए राहुल गांधी के एक बयान का इस्‍तेमाल किया था। इसके बाद राहुल गांधी ने इसे लेकर सफआई दी थी। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान द्वारा उकसाए जाने की वजह कश्‍मीर में हिंसा हो रही है। दुनिया भर में पाकिस्तान आतंकवाद का प्रमुख समर्थक है। राहुल गांधी को इस बयान पर पाकिस्‍तान ने उन्हें नसीहत दी थी।

शिवसेना ने नाराजगी जाहिर की
शरद पवार के इस बयान पर शिवसेना ने  नाराजगी जाहिर की है। पार्टी की प्रवक्‍ता मनीषा कायदे ने पवार के बयान की निंदा करते कहा कि कार्यकर्ता लगातार पार्टी छोड़कर जा रहे हैं। इससे पवार बताश हैं। ऐसे मौके पर पाकिस्तान की प्रशंसा करना कितना उचित है ? कहीं पवार के मन में ऐसा तो नहीं कि पाकिस्तान से कार्यकर्ता आयात किए जाएं?

यह भी पढ़ें: अल्पसंख्यकों पर इमरान को दो टूक जवाब, पार्टिशन के बाद वहां लोगों को आज भी 'मुहाजिर' क्यों कहते हैं

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप