नई दिल्ली [जेएनएन]। 2019 के चुनावों में पीएम मोदी को कौन टक्कर देगा या विकल्प के रूप में प्रधानमंत्री का चेहरा कौन होगा। वो क्या फॉर्मूला होगा जिससे प्रधानमंत्री तय होगा। इसका खुलासा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के मुखिया शरद पवार ने यहां मुंबई में एक बैठक के दौरान किया।

 उन्होंने कहा कि जिस दल के पास बहुमत होगा, वही प्रधानमंत्री पद का दावेदार होगा। शरद पवार कहा कि वे खुश हैं कि अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी स्पष्ट कर दिया है कि उनके दिमाग में प्रधानमंत्री बनने की कोई योजना नहीं चल रही है। राहुल ने ये बात लंदन में पत्रकारों के एक कार्यक्रम के दौरान कही। हालांकि, इससे पहले कर्नाटक चुनाव में उन्होंने कहा था कि अगर मौका आएगा तो वे 'प्रधानमंत्री' बनना चाहेंगे।

शरद पवार ने कहा कि एक बार चुनाव हो जाए, ये लोग (भाजपा) सत्ता से हट जाएं। तब हम साथ बैठकर इस बात का (प्रधानमंत्री) का फैसला करेंगे। उन्होंने कहा कि जो भी पार्टी बहुमत लाएगी वो पीएम पद के लिए दावेदारी ठोंकेगी। यहां मुंबई में एक बैठक के दौरान शरद पवार ने कार्यकर्ताओं को याद दिलाया की 2004 में बने संयुक्त प्रगतिगशील गठबंधन ने 1998 में सत्ता पर काबिज हुए राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन की सरकार को हरा दिया था।

उन्होंने कहा कि हम हरेक राज्य में जाएंगे और कोशिश करेंगे कि जो पार्टी भाजपा के साथ नहीं हैं, वो विपक्षी गठबंधन का हिस्सा बनें। उन्होंने कहा कि गुजरात, मध्यप्रदेश, राज्स्थान में कांग्रेस मजबूत स्थिति में है। वहीं, उत्तरप्रदेश में अखिलेश यादव और मायावती हैं। हर राज्य की स्थिति अलग है। अतः हमें क्षेत्रीय ताकतों को साथ लेकर आगे बढ़ना होगा।

वहीं, एनडीए सहयोगियों की ओर से कुछ और ही दावा किया जा रहा है। शनिवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि 2019 में प्रधानमंत्री के लिए कोई पद खाली नहीं है। उन्होंने कहा कि विपक्षी गठबंधन को 2024 के बारे में चिंता करनी चाहिए, क्योंकि 2019 में मोदी के सामने कोई चुनौती नहीं है।

Posted By: Vikas Jangra