गोरखपुर, जेएनएन। कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रो. गौरव वल्लभ ने केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने नोटबंदी को न केवल काला दिवस करार दिया बल्कि इसे युवाओं के लिए शोक दिवस भी बताया। कहा कि आज युवाओं में बेरोजगारी बड़ी समस्या है। बेरोजगारी का कोई वैश्विक कारण नहीं है बल्कि इसके लिए नोटबंदी जिम्मेदार है।

उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था पर गलत तरीके से जीएसटी लागू किया गया जिसके कारण संगठित क्षेत्र खत्म हो गए। असंगठित क्षेत्र, निर्माण क्षेत्र व कृषि को भी नोटबंदी के जरिये खत्म कर दिया गया है। अब रोजगार नहीं उत्पन्न हो सकता है क्योंकि अर्थव्यवस्था को गोली मार दी गई है। यही कारण है कि युवाओं में रोष है। युवाओं ने ही भाजपा को 303 तक पहुंचाया अब युवा ही तीन पर लाएंगे और भाजपा को पता भी नहीं चलेगा। युवाओं ने विश्वास करना छोड़ दिया है।

नोटबंदी ने अर्थव्‍यवस्‍था को नष्‍ट किया

भारत के युवा नोटबंदी को काला दिवस मानते हैं क्योंकि इस निर्णय के कारण युवाओं की नौकरी चली गई। काला दिवस, शोक दिवस और बरसी इसलिए क्योंकि चलती-फिरती अर्थव्यवस्था को नष्ट करके बेरोजगारी आज ही के दिन दी गई। आठ नंवबर तीसरी बरसी है उस गलत और काले निर्णय की। दुनियां के किसी भी अर्थशास्त्री ने नोटबंदी को जायज नहीं ठहराया। भाजपा की क्या राजनीतिक मजबूरियां थीं कि यूपी विधान सभा चुनाव से ठीक पहले नोटबंदी को लागू करना पड़ा। प्रदेश की जनता को सब पता है इस बारे में अब कुछ भी बताने की जरूरत नहीं है। मनरेगा जिससे ग्रामीण भारत में पैसा पहुंचता है और लोगों की आर्थिक स्थिति मजबूत होती है उसको खत्म करने की कोशिश की जा रही है।

दो अक्टूबर को तालियां बजाना गांधी को श्रद्धांजलि नहीं

उन्होंने कहा कि दो अक्टूबर को तालियां बजाना गांधी को श्रद्धांजलि नहीं है। इसी देश में भीड़ एक व्यक्ति को पीटकर मार डालती है, उस दिन प्रधानमंत्री का इस पर कोई ट्वीट नहीं आता है जबकि येगोस्लोवाकिया व चेकोस्लोवाकिया में बाढ़ आती है तो प्रधानमंत्री ट्वीट करते हैं। देश में इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी प्रधानमंत्री कोई ट्वीट नहीं करते हैं। यह गांधी जी का देश नहीं है, यह गांधी जी की परंपरा नहीं है। गांधी को श्रद्धांजलि उनके मूल्यों को लागू करने से होगी। दो अक्टूबर को इकट्ठा होकर चाय नाश्ता करना गांधी को श्रद्धांजलि नहीं है।

लोग मजाक उड़ाते हैं यूपी पुलिस का

प्रो. गौरव वल्लभ ने योगी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि बिजली विभाग में चार हजार करोड़ रुपये का पीएफ घोटाला छोटी रकम नहीं है। इस पर योगी को इस्तीफा देना चाहिए। उन्होंने कहा कि योगी कहते थे कि प्रदेश को मच्छर व माफिया से निजात दिलाएंगे। मच्छर की स्थिति देखनी हो तो सरकारी अस्पताल में देख लीजिए और माफिया पूरे प्रदेश में बेखौफ होकर घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। भगवान की जाति बताने वालों को भगवान भी माफ नहीं करेंगे। यूपी पुलिस का मजाक उड़ाया जा रहा है।

सड़कों पर पसरा कचरा बता रहा सीएम के शहर का हाल

प्रो. वल्लभ ने गोरखपुर आगमन पर अपना अनुभव पत्रकारों से साझा किया। उन्होंने कहा कि हवाई अड्डा नया है। गोरखपुर एयरफोर्स का बड़ा स्टेशन है। एयरपोर्ट से शहर में घुसा तो सड़कों पर दोनों ओर कचरा फैला हुआ था। होटल तक आने में 45 मिनट से अधिक लग गया। टै्रफिक की कोई व्यवस्था नहीं है, क्या ऐसा ही होता है सीएम का शहर?

Posted By: Pradeep Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस