भोपाल, जेएनएन। पेगासस फोन जासूसी विवाद पर आरोप-प्रत्यारोप के दौर के बीच मध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा देश के गृहमंत्री अमित शाह से इस्तीफे की मांग करने वाले बयान पर पलटवार कर दिया। शुक्रवार को नरसिंहपुर के राजमार्ग में गृहमंत्री ने कहा कि अब राहुल गांधी जी अगर आपका फोन टेप हो रहा होता, तो आप एकदम बीच में गायब हो जाते हो न, उसकी जानकारी बाहर आ जाती। 

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि  राहुल गांधी 2020 में नेपाल चले गए, किसान आंदोलन को बीच में छोड़कर चले गए, आप कभी भी नाना-नानी के यहां चले जाते हों, तो सब जानकारी आ जाएगी कि आप गायब कहां हो जाते हो! जांच पेगासस की नहीं बल्कि आपके गायब होने की होना चाहिए कि आप जाते कहां हो, क्या करते हो। राज्य गृहमंत्री ने यह भी कहा कि केंद्रीय गृहमंत्री के इस्तीफे की आवश्यकता नहीं हैं। आपका यह पूरा का पूरा खेल झूठ पर आधारित है।

शुक्रवार को प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा भोपाल से कार द्वारा दोपहर करीब डेढ़ बजे नरसिंहपुर जिले में स्थित राजमार्ग चौराहा पहुंचे। यहां उन्होंने स्थानीय विधायक संजय शर्मा के कार्यालय परिसर में चातुर्मास कर रहे संत रावतपुरा के दर्शन कर पूजन किया।

बता दें कि पेगासस जासूसी विवाद को लेकर सदन के अंदर संग्राम कर रहे विपक्षी दलों ने शुक्रवार को संसद परिसर में विरोध प्रदर्शन करते हुए राजनेताओं- पत्रकारों समेत कई प्रमुख हस्तियों के फोन की जासूसी की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की मांग की। वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी के साथ अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने पोस्टर-बैनरों के साथ जासूसी को लेकर सरकार को कठघरे में ख़़डा करते हुए इसे देशद्रोह तक करार दिया। राहुल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने आतंकवादियों और अपराधियों के खिलाफ इस्तेमाल किए जाने वाले पेगासस स्पाइवेयर का इस्तेमाल देश के लोकतंत्र और उसकी संस्थाओं के खिलाफ किया है। उनकी जासूसी किए जाने का सरकार पर आरोप लगाते हुए राहुल ने कहा कि उनके हर फोन की टैपिग और दिनचर्या की जासूसी की जाती है। जासूसी प्रकरण को लोकतंत्र की आवाज दबाने का प्रयास करार देते हुए राहुल ने गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की भी मांग उठाई।

Edited By: Pooja Singh