भोपाल, पीटीआइ। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सहयोगी मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (MRM) ने गुरुवार को अयोध्या में राम मंदिर के 'भूमि पूजन' को 'ऐतिहासिक' दिन करार दिया। एमआरएम के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि चूंकि पिछले साल राम मंदिर के पक्ष में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी शांति और सद्भावना कायम रही थी और बुधवार को शिलान्यास समारोह के दौरान भी यह दर्शाता है कि मुसलमानों ने अपनी स्वीकृति धार्मिक संरचना के लिए दे दी है। एमआरएम के राष्ट्रीय संयोजक एस के मुद्दीन ने गुरुवार को पीटीआई को बताया, 'भूमि-पूजन समारोह हमारे लिए एक ऐतिहासिक दिन था। हम इस ऐतिहासिक घटना के साक्षी बन सकते हैं, जो न तो हमारे पूर्वज बने थे, और न ही भावी पीढ़ी बन पाएगी।'

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को अयोध्या में 'श्री राम जन्मभूमि मंदिर' में भूमि पूजन किया था। भूमि पूजन से पहले, उन्होंने हनुमान गढ़ी और श्री रामलला विराजमान में 'पूजा' की। उन्होंने आधारशिला रखने के लिए एक पट्टिका का अनावरण किया और 'श्री राम जन्मभूमि मंदिर' पर एक स्मारक डाक टिकट भी जारी किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राम मंदिर भूमि पूजन के बाद गुरुवार को रामनगरी में उल्‍लास का माहौल है। गांवों से लेकर कस्बों तक धार्मिक अनुष्ठान व प्रसाद बांटने का सिलसिला लगातार जारी है। सभी पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करते दिख रहे थे। बुधवार को भूमि पूजन के समय अबीर गुलाल चले तो शाम दीपावाली का नजारा देखने को मिला। वहींं गुरुवार को सुबह से ही हनुमानगढ़ी पर श्रदालुओं की भीड़ नजर आई।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस