भोपाल, जेएनएन। मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने सोमवार को विधानसभा के बजट सत्र की शुरुआत में 36 पेज के अपने अभिभाषण की पहली लाइन और अंतिम पैराग्राफ ही पढ़ा। यह कार्य पांच मिनट में पूरा हो गया। अभिभाषण के बाकी हिस्से को पढ़ा हुआ माना गया।

अभिभाषण के यह अंश राज्यपाल ने पढ़े

पंद्रहवीं विधानसभा के पांचवें सत्र में सभी माननीय सदस्यों का स्वागत-वंदन-अभिनंदन। मेरी सरकार ने आवासहीन अधिमान्य पत्रकारों को 25 लाख रुपये तक के आवास ऋण पर पांच फीसद ब्याज अनुदान पांच वर्ष तक देने की योजना के क्रियान्वयन का निर्णय लिया है। मेरी सरकार ने पिछले एक वर्ष में प्रदेश के बहुआयामी विकास की तेज कोशिशें की हैं। सरुकारु ने अपने वचन पत्र के वचनों की पूर्ति के लिए संकल्पित होकर कार्य किया है। साथ ही सरकार ने विजन टू डिलीवरी-2025 का रोडमैप बनाकर अगले पांच वर्ष की अपनी प्राथमिकताएं चिन्हित कर उस पर कार्य भी शुरू करु दिया है। मुझे विश्वास है कि वचन पत्र औरु रोडमैप पर अमल कर मेरी सरकार प्रदेश की एक नई प्रोफाइल बनाने में सफल होगी।

अल्पमत की सरकार का अभिभाषण पढ़ेंगे : मिश्रा

राज्यपाल लालजी टंडन के आसंदी परु पहुंचते ही भाजपा के वरिष्ठ विधायक डॉ. नरुोत्तम मिश्रा ने टोकते हुए राज्यपाल के अभिभाषण पढ़ने पर आपत्ति उठाई। उन्होंने कहा कि जिस सरुकार के अल्पमत में होने का पत्र आपने मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष को लिखा है। क्या उसी सरकार का अभिभाषण पढ़करकसीदे पढ़ने का काम करेंगे? डॉ. मिश्रा के इतना कहते ही सत्तापक्ष की ओर से विरोध जताया गया और टिप्पणी की गई, जिसे रिकॉर्ड में नहीं लिया गया।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस