नई दिल्ली, एएनआइ।  वरिष्ठ कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी सरकार पर सीबीआई को बर्बाद करने का आरोप लगाया है। खड़गे ने शनिवार के दिन आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक के पद से हटाने को सरकार की 'गलती' करार दिया साथ ही मोदी सरकार पर देश की सबसे प्रमुख जांच एजेंसी को ‘बर्बाद’ करने का आरोप लगाया।

खड़गे, पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली चयन समिति के सदस्य हैं जिसने सीबीआइ आलोक वर्मा को सीबीआइ से बाहर निकाल दिया। खड़गे ने कहा कि उन्हें (आलोक वर्मा) अपना पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया। वर्मा के खिलाफ केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के निष्कर्षों पर सवाल उठाने वाली समिति के समक्ष खड़गे ने एक असहमतिपूर्ण टिप्पणी की थी। दिलचस्प बात यह है कि खड़गे ने दो साल पहले वर्मा को सीबीआई प्रमुख के रूप में नियुक्त करने का निर्णय लेने पर भी अपना विरोध जताया था।

खड़गे ने एएनआई से कहा, ‘मोदी सरकार के पास इसके लिए कोई नैतिक अधिकार नहीं है। वो गलत काम कर रहे हैं और संस्था को नष्ट कर रहे हैं।’ लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता खड़गे ने बताया कि, 'सरकार ने एक बार फिर से गलती की है, इससे पहले उन्होंने सीबीआई निदेशक को बिना किसी बैठक के हटा दिया था। बैठक बुलाने के बाद भी, समिति के सामने रखे जाने वाले कागजात प्रस्तुत नहीं किए गए थे। उन्होंने सीवीसी की रिपोर्ट के आधार पर ही कार्रवाई की। मैंने समिति में पूछा कि पटनायक की रिपोर्ट क्यों नहीं थी। मैंने मामले पर आलोक वर्मा का बयान मांगा। तब यह सामने आया कि सीवीसी की रिपोर्ट में सब कुछ है।'  

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस