नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। महिला सुरक्षा को लेकर देश भर में मचे कोहराम के बीच सरकार ने देश के सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाने का फैसला किया है। इसके लिए राज्यों को निर्भया फंड से 100 करोड़ रुपये दिये जाएंगे।

महिलाओं के अनुकूल बनेंगे थाने

सरकार का मानना है कि महिला हेल्पडेस्क बनने के बाद थानों को महिलाओं के अनुकूल बनाने में मदद मिलेगी। दिल्ली के निर्भया कांड के बाद महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित कराने के लिए इस फंड को बनाया गया था। गृहमंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को अपने सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क बनाने को कहा गया है। इसके लिए 100 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता मंजूर कर दी गई है। उनके अनुसार जिन थानों में पहले से महिला हेल्प डेस्क मौजूद है, इस फंड की मदद से उन्हें और मजबूत बनाया जाएगा।

अपनी शिकायतों को बेझिझक दर्ज करा सकेंगी महिलाएं

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महिला हेल्प डेस्क महिलाओं के लिए पुलिस थानों में संपर्क का प्रथम बनना चाहिए ताकि वे अपनी शिकायतों को बेझिझक दर्ज करा सकें। जाहिर है इन महिला हेल्प डेस्क पर महिला पुलिसकर्मियों की तैनाती भी सुनिश्चित की जाएगी।

वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि महिला हेल्प डेस्क में महिला पुलिसकर्मियों की नियुक्ति के साथ वकीलों, मनोचिकित्सकों और एनजीओ की सूची भी होगी। ताकि महिला को किसी तरह की कानूनी व अन्य सहायता के लिए भटकना नहीं पड़े और उन्हें आसानी से वकील मिल सके। एनजीओ की मदद से पीड़ि‍त महिला की दूसरी जरूरतों को पूरी करने में मदद मिलेगी।

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस