नई दिल्ली, प्रेट्र। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) ने अपने छात्र संघ के कार्यालय में लगी मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर हटाने को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया है। मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री सत्य पाल सिंह ने लोकसभा में लिखित उत्तर में यह जानकारी दी। मई में यह मामला सामने आने के बाद जमकर विवाद हुआ था।

मंत्री ने बताया कि छात्र संघ को खत्म कर दिया गया है। अब इस संबंध में नया छात्र संघ ही फैसला करेगा। अलीगढ़ से भाजपा सांसद सतीश गौतम ने एएमयू के छात्र संघ कार्यालय में पाकिस्तान की नींव रखने वाले जिन्ना की तस्वीर पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने इस तस्वीर को हटाने के लिए वाइस चांसलर को पत्र लिखा था। दो मई को इस संबंध में हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान हिंसा भी हुई थी। पुलिस की कार्रवाई में छह लोग घायल हुए थे। उसी दिन विश्वविद्यालय में पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यक्रम था, जिसे रद करना पड़ा था।

इंजीनियरिंग कॉलेजों में 45 फीसद सीटें खाली

देशभर में एआइसीटीई द्वारा प्रमाणित इंजीनियरिंग कॉलेजों में पिछले चार साल में 45 फीसद से ज्यादा सीटें खाली रही हैं। मंत्री सत्यपाल सिंह ने लोकसभा में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 2014-15, 2015-16, 2017-18 और 2018-19 के शैक्षिक सत्रों में क्रमश: 48.79 फीसद, 47.68 फीसद, 49.70 फीसद और 49.30 फीसद सीटें खाली रहीं। एआइसीटीई को इंजीनियरिंग और टेक्निकल संस्थानों की ओर से संचालन बंद करने के लिए 239 आवेदन मिले थे। इनमें से 51 को संचालन बंद करने की अनुमति मिल चुकी है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Arun Kumar Singh