राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के अधिकारिक ट्विटर हैंडल से गुरुवार को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के कश्मीर दौरे पर तंज कसा गया। इसमें लिखा गया कि पहले बिरयानी खाई थी, अब क्या हलीम खाने आए हैं। पांच अगस्त से एहतियातन हिरासत में ली गई महबूबा मुफ्ती का ट्विटर हैंडल उनकी बेटी इल्तिजा मुफ्ती संचालित कर रही हैं।

महबूबा का डोभाल पर तंज

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत कुमार डोभाल बुधवार को कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर पहुंचे थे। गुरुवार को महबूबा के ट्विटर हैंडल पर लिखा गया, पिछली बार मैन्यू में बिरयानी थी, क्या इस बार हलीम होगा? आगे लिखा, पिछली बार कुछ अंजान कश्मीरियों के साथ 'बिरयानी फोटो सेशन' था। इस बार मैन्यू में क्या है, हलीम?

बता दें कि पिछले माह डोभाल ने शोपियां दौरे के समय बाजार में कुछ स्थानीय लोगों के साथ खड़े होकर बिरयानी खाई थी। यह तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थीं।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद उपजा तनाव धीरे-धीरे शांत हो रहा है। अब वादी में कहीं आजादी, जिहादी और अलगाववादी नारे नहीं गूंज रहे। धीरे-धीरे लोग घरों से बाहर निकल रहे हैं और बाजारों में चहलकदमी कर रहे हैं। गुरुवार को श्रीनगर समेत घाटी के किसी भी हिस्से में निषेधाज्ञा नहीं थी। ऐसे में सुबह ही सड़कों पर आम लोगों की आवाजाही शुरू हो गई। वादी में लाल चौक, पोलो व्यू सहित सभी प्रमुख बाजारों में सुबह तीन-चार घंटे दुकानें खुली और बंद हो गई, जो दोपहर बाद में चार बजे से रात आठ बजे तक फिर खोली गई। सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों की उपस्थिति सामान्य रही। स्कूल भी खुले रहे। हालांकि बच्चों की संख्या कम थी। वादी में गुरुवार को लगातार 53वें दिन भी मोबाइल फोन और इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह ठप रहीं। इंटरनेट सेवा सिर्फ सीमित आधार पर जिला उपायुक्त और सुरक्षा एजेंसियों के कार्यालय में ही उपलब्ध है। संबंधित अधिकारियों के मुताबिक, हालात में सुधार के आधार पर मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं को अगले कुछ दिनों में बहाल किया जा सकता है। वहीं, लैंडलाइन सेवा पूरी वादी में बहाल है।

 

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस