नई दिल्ली, एजेंसी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा कि आपने कभी नहीं देखा होगा कि हेल्थ को भी विकास से जोड़ा जाता रहा हो। सीआईआई के एशिया हेल्थ 2021 के उद्घाटन सत्र में केंद्रीय मंत्री 'बेहतर कल के लिए स्वास्थ्य सेवा में बदलाव' पर कहते हैं, 'स्वास्थ्य का मतलब सिर्फ इलाज है, यह बजट और सरकार की नीतियों में दिखाई देता है।'

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, 'आप देख सकते हैं कि पीएम मोदी ने किस दिशा में काम करना शुरू किया- प्रिवेंटिव केयर भी हेल्थकेयर का एक हिस्सा हो सकता है। हमारे पास 'खेलो इंडिया' है, पीएम ने कहा कि खेलना लोगों को मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रख सकता है। पीएम ने योग पर भी जोर दिया। ये सभी निवारक देखभाल के रूप में महत्वपूर्ण हैं।'

इससे पहले मनसुख मंडाविया ने बीते दिन देश में कोविड रोधी टीकारकण अभियान को आगे बढ़ाने के लिए राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की। इस बैठक में कोविड आपातकालीन प्रतिक्रिया पैकेज और टीकाकरण बढ़ाने से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की गई। बता दें कि सरकारी आंकड़ों के अनुसार करीब 11 करोड़ से अधिक लोगों ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद समय से दूसरी डोज नहीं ली है। इन लोगों ने दो डोज के बीच निर्धारित अंतराल की समय सीमा बीतने के बावजूद दूसरा टीका लेने में तत्परता नहीं दिखाई। इन लोगों के मामले में सरकार अब खास ध्यान दे रही है। उन्हें दूसरी डोज के लिए प्रेरित किया जाएगा। आंकड़ों से पता चला है कि 3.92 करोड़ से अधिक लाभार्थियों की दूसरा टीका लेने के लिए निर्धारित तिथि बीते हुए छह सप्ताह से अधिक समय हो चुका है। वहीं लगभग 1.57 करोड़ लोगों की दूसरी डोज लेने की मियाद बीते हुए चार से छह सप्ताह हो चुके हैं।

Edited By: Nitin Arora