नई दिल्ली, प्रेट्र। दिल्ली में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। इस दौरान ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को कुर्ता और मिठाई दी। मुलाकात के बाद ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री से मुलाकात अच्छी रही। मैंने पश्चिम बंगाल का नाम बदलने को लेकर उनसे चर्चा की है। उन्होंने इसको लेकर आश्वासन दिया है। 

बता दें कि इससे पहले दोनों आखिरी बार 25 मई 2018 को शांति निकेतन में विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में मिले थे। ममता बनर्जी को केंद्र सरकार और पीएम मोदी का घोर विरोधी माना जाता है।

लोकसभा चुनाव में यह विरोध चरम पर पहुंच गया था। ममता ने मोदी को पीएम तक मानने से इन्कार कर दिया था। वह उनके शपथ ग्रहण समारोह में भी नहीं गई थी। वहीं पीएम से मुलाकात को लेकर भाजपा ने ममता पर निशाना साधा है।

राजीव कुमार को बचाने के लिए पीएम से मुलाकात

भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा है कि वह कोलकाता के पूर्व पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को बचाने के लिए पीएम से मिल रहीं है। अगर वह ऐसा नहीं करेंगी तो सारधा चिटफंड घोटाले में राज्य के आधे मंत्री जेल में होंगे।

भाजपा के लिए जीत

मुकुल रॉय ने कहा कि ममता का मोदी से मुलाकात के लिए जाना भाजपा के लिए जीत की तरह है। हालांकि, ममता बनर्जी ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया है। उनका कहना है वह पीएम से मुलाकात के दौरान बंगाल के हितों की बात रखेंगी। इसमें राज्य का नाम बदलना, बैंकों का विलय, एयर इंडिया, बीएसएनल जैसे मुद्दे शामिल हैं।

कभी कभार ही दिल्ली जाती हूं

ममता ने साफ किया है कि वह कभी कभार ही दिल्ली जाती हैं। कहा- मैं वहां सिर्फ प्रशासनिक मुद्दों को लेकर जाती हूं। गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पश्चिम बंगाल का नाम बांग्ला करने के राज्य सरकार के प्रस्ताव को मंजूरी देने से मना कर दिया था। केंद्र ने यह करते इस प्रस्ताव को मंजूरी नहीं दी थी कि इस कदम के लिए संविधान संशोधन की आवश्यकता होगी। इसके बाद ममता ने इस मुद्दे पर जुलाई में पीएम को पत्र लिखा था और उनसे जल्द इसपर कदम उठाने को कहा था। 

यह भी पढ़ें: ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना कहा- देश में चल रहा है 'सुपर इमरजेंसी' का दौर

Posted By: Tanisk

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप