नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस में कलह थमने का नाम नहीं ले रही है। गांधी परिवार के समर्थक और कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं के समूह जी 23 के सदस्य आमने- सामने हैं। अब वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के बयान पर राज्यसभा सदस्य मल्लिकार्जुन खड़गे ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि यह कहना कि पार्टी का कोई अध्यक्ष नहीं है, झूठ है। पार्टी में कई बार खींचतान हो चुकी है, ये कोई नई बात नहीं है। हमारी पार्टी की अध्यक्ष सोनिया गांधी हैं।

ज्ञात हो कि पिछले दिनों कपिल सिब्बल ने कहा था कि मैं आपसे (मीडिया) उन कांग्रेसियों की ओर से बोल रहा हूं, जिन्होंने पिछले साल अगस्त में पत्र लिखा था। कार्यसमिति की बैठक जल्द बुलाकर कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव कराया जाना चाहिए। वे उन नेताओं की तरफ से बोल रहे हैं, जिन्होंने पिछले साल अगस्त में कांग्रेस कार्यसमिति और केंद्रीय चुनाव समिति के साथ कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव के लिए पत्र लिखा था। हमें अभी तक इस पर फैसले का ही इंतजार है और इस प्रतीक्षा की भी एक सीमा है। 

उन्होंने कहा कि पार्टी में जब कोई चुना हुआ अध्यक्ष नहीं है तो फैसले कौन ले रहा है यह मालूम ही नहीं चल रहा। हम जानते हैं और फिर भी हम नहीं जानते। उन्होंने कहा था कि चर्चा के लिए तुरंत सीडब्ल्यूसी की बैठक बुलाई जाए। कांग्रेस को ऐसी हालत में नहीं देख सकते हैं। लोग पार्टी छोड़ रहे हैं और कांग्रेस की चिंताजनक हालत सुधारने के लिए संवाद का रास्ता तक नहीं खोला जा रहा।

वहीं जी 23 की अगुआई कर रहे वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने भी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को फिर से पत्र लिखकर कार्यसमिति की बैठक बुलाने और कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव कराने की मांग उठाई थी। पंजाब में सिद्धू के नखरों के लिए कैप्टन अमरिंदर सिंह जैसे पुराने भरोसेमंद दिग्गज को बेगाना किये जाने से खफा जी 23 ने शीर्ष नेतृत्व पर खुला हमला बोला था।

Edited By: Arun Kumar Singh