राज्य ब्यूरो, मुंबई। महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सदन में अपनी सरकार के विश्वासमत जीतने के बाद मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का अभिनंदन करते हुए कहा कि ढाई साल पहले हमारे गठबंधन को ही सत्ता में आने का जनादेश मिला था। लेकिन हमें जानबूझकर बहुमत से दूर कर दिया गया। लेकिन अब एकनाथ शिंदे के साथ हम एक बार फिर भाजपा-शिवसेना की सरकार बनाने में सफल रहे हैं। एक सच्चे शिवसैनिक को ही मुख्यमंत्री बनाया गया है। मैं अपनी पार्टी के निर्देशानुसार उपमुख्यमंत्री बना हूं।

फडणवीस ने कहा कि मैंने एक बार कहा था कि मैं वापस आऊंगा, तब बहुत से लोगों ने मेरी खिल्ली उड़ाई थी। आज मैं वापस आ गया हूं, और इनको (एकनाथ शिंदे) साथ लेकर आया हूं। अब जिन्होंने मेरी खिल्ली उड़ाई थी, मैं उनसे कोई बदला नहीं लूंगा। मैं उन्हें माफ कर दूंगा। राजनीति में सारी बातें दिल पर नहीं ली जातीं। फडणवीस ने कहा कि राजनीति में बहुत कुछ सुनने की आदत डालनी पड़ती है।

मैंने देखा कि बहुत से लोगों को उनके बयान के कारण या इंटरनेट मीडिया पर कुछ पोस्ट करने के कारण जेल जाना पड़ा। हमें अपने खिलाफ सुनने के लिए भी तैयार रहना चाहिए। हमें प्रतिक्रिया देनी चाहिए, लेकिन सही तरीके से।

फडणवीस ने उद्धव सरकार के मंत्रिमंडल की अंतिम बैठक में महाराष्ट्र के दो शहरों के नामांतरण को लेकर किए गए निर्णय को लेकर कहा कि हम उन निर्णयों को कायम रखेंगे, क्योंकि हम खुद भी उन्हीं विचारों के हैं। हां, हम उन निर्णयों पर पुनः अपनी मुहर लगाएंगे क्योंकि उन निर्णयों को लेने का तरीका गलत था। मंत्रिमंडल की अंतिम बैठक से पहले ही राज्यपाल सरकार से बहुमत सिद्ध करने को कह चुके थे।

Edited By: Arun Kumar Singh