मुंबई, एजेंसियां। महाराष्‍ट्र में भले ही नई सरकार का गठन हो गया है लेकिन सियासी खींचतान थमने का नाम नहीं ले रही है। शिवसेना के प्रमुख सचेतक सुनील प्रभु ( Shiv Sena chief Whip Sunil Prabhu ) ने व्हिप जारी कर सभी पार्टी विधायकों को सदन में मौजूद रहने को कहा है। साथ ही महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में शिवसेना उम्मीदवार राजन साल्वी के पक्ष में मतदान करने के निर्देश दिए हैं।

शिवसेना ने अपने विधायक राजन साल्वी को महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष पद के लिए महा विकास आघाड़ी (एमवीए) के उम्मीदवार के रूप में चुनाव मैदान में उतार दिया है। साल्‍वी ने शनिवार को अपना नामांकन दाखिल कर दिया। महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव तीन जुलाई को होगा। वहीं भाजपा ने पहली बार विधायक बने राहुल नार्वेकर को इस पद के लिए चुनाव मैदान में उतारा है। नार्वेकर ने बीते शुक्रवार को अपना नामांकन दाखिल किया था।

साल्वी रत्नागिरी जिले के राजापुर निर्वाचन क्षेत्र से विधायक हैं जबकि नार्वेकर मुंबई के कोलाबा विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हैं। विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र तीन और चार जुलाई को आयोजित हो रहा है जिसमें सत्‍ता पक्ष और विपक्ष की परीक्षा होनी है। तीन जुलाई यानी रविवार को अध्यक्ष पद के लिए मतदान होगा जबकि चार जुलाई को नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे सदन में विश्वास प्रस्ताव पेश करेंगे। नई सरकार में भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस को उपमुख्यमंत्री की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है।

मालूम हो कि कांग्रेस के नाना पटोले ने पिछले साल फरवरी में विधानसभा के अध्‍यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था तभी से यह पद खाली है। उन्‍होंने पार्टी की राज्य इकाई का अध्यक्ष बनने के लिए ऐसा किया था। इस बीच शिवसेना के बागी समूह के प्रवक्ता विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को 'शिवसेना नेता' के पद से हटाने के पत्र को एक उपयुक्त मंच पर चुनौती दी जाएगी। यदि ऐसा होता है तो यह सूबे की सियासत में दिलचस्‍प मोड़ आ जाएगा।

Edited By: Krishna Bihari Singh