मुंबई, एएनआइ। महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रभारी एचके पाटिल ने महा विकास आघाड़ी गठबंधन से कांग्रेस के निकलने की संभावना को गलत करार दिया है। उन्होंने कहा, 'मैंने कुछ रिपोर्टें देखीं, जिनमें कहा गया था कि कांग्रेस के महाराष्ट्र में महा विकास आघाड़ी गठबंधन से बाहर निकलने की संभावना है। यह गलत है। कांग्रेस ने न तो इस पर चर्चा की और न ही कुछ तय किया है। अफवाहें सच्चाई से कोसों दूर हैं। महा विकास आघाड़ी गठबंधन स्थिर है।'

महा विकास आघाड़ी के साथ है कांग्रेस- एचके पाटिल

एचके पाटिल ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा, 'महाराष्ट्र में भाजपा ने जिस तरह से पार्टी (शिवसेना) को तोड़ने का नया प्रयोग किया है, वह भाजपा के 'आपरेशन कमल' का उदाहरण है. कांग्रेस महा विकास आघाड़ी के साथ है और हमारा गठबंधन अब भी बरकरार है। आज हम सभी ने अविश्वास प्रस्ताव के पक्ष में मतदान किया है।'

एकनाथ शिंदे की सरकार ने हासिल किया बहुमत

महाराष्ट्र विधानसभा में सोमवार को हुए फ्लोर टेस्ट में एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली सरकार ने बहुमत हासिल कर लिया है।  एकनाथ शिंदे के पक्ष में 164 और विपक्ष में 99 वोट पड़े। तीन विधायक विधानसभा से नदारद रहे।

कांग्रेस के विधायक रहे नदारद

फ्लोर टेस्ट के दौरान 22 विधायक गैरहाजिर रहे। इनमें सबसे ज्यादा विधायक कांग्रेस के थे। कांग्रेस के 10 सदस्यों जितेश अंतापुरकर, जीशान सिद्दीकी, प्रणीति शिंदे, अशोक चव्हाण, विजय वडेट्टीवार, धीरज देशमुख, कुणाल पाटिल, राजू आवाले, मोहनराव हम्बर्दे और शिरीष चौधरी ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया।

'राजनीति में हर बात को गंभीरता से नहीं लिया जाता'

विधानसभा में डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा. 'मैंने कहा था कि मैं वापस जरुर आऊंगा, लेकिन उस समय कई लोगों ने मेरा मजाक उड़ाया था। आज मैं वापस आया हूं और एकनाथ शिंदे को भी अपने साथ लाया हूं। मैं उन लोगों से बदला नहीं लूंगा जिन्होंने मेरा मजाक  उड़ाया। मैं उन्हें माफ कर दूंगा। राजनीति में हर बात को गंभीरता से नहीं लिया जाता।'

'हमें जानबूझकर बहुमत से दूर किया गया'

देवेंद्र फडणवीस ने कहा, 'हमें जानबूझकर बहुमत से दूर किया गया। एकनाथ शिंदे के साथ हमने एक बार फिर अपनी सरकार बनाई है। सच्चे शिवसैनिक को सीएम बनाया है। मैं अपनी पार्टी के आदेश के अनुसार डिप्टी सीएम बना हूं।'

Edited By: Achyut Kumar