भोपाल, एजेंसियां। पूर्व मुख्यमंत्री और मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमल नाथ ने एलान किया है कि चार अगस्त को सभी कांग्रेस कार्यकर्ता अपने-अपने घर पर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कोरोना वायरस (COVID-19) को लेकर गाइड लाइन का पालन करते हुए यह पाठ करने को कहा है। इसी दिन कमल नाथ अपने निवास पर चार अगस्त की शाम को हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। भाजपा नेता  कैलाश विजयवर्गीय ने इसपर तंज कसा है। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार उन्होंने कहा है कि जब आदमी का अंतिम समय आता है तो वह भगवान को याद करने लगता है। कांग्रेस ने राम मंदिर निर्माण पर प्रसन्नता व्यक्त की है और हम उनका स्वागत करते हैं। कांग्रेस के नेता कहते थे कि भगवान राम काल्पनिक हैं, लेकिन अब जब उन्हें ज्ञान मिला है, तो हम उनके फैसले का स्वागत करते हैं। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि प्रदेश की खुशहाली और कोरोना महामारी पर नियंत्रण के लिए यह आयोजन किया जा रहा है। कमल नाथ स्वयं अपने निवास पर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। पांच अगस्त को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का शिलान्यास कार्यक्रम प्रस्तावित है और उसके एक दिन पहले मप्र कांग्रेस के इस आयोजन को उससे जोड़कर देखा जा रहा है।

सलूजा ने कहा कि भाजपा को हनुमान चालीसा के पाठ पर आपत्ति है और कांग्रेस को धर्म विरोधी पार्टी बताया जा रहा है। कांग्रेस की 15 महीने की सरकार में महाकाल, राम वनगमन पथ, गौशालाएं बनाई, सीता मंदिर के लिए प्रयास किए, जबकि भाजपा की 15 साल की पिछली सरकार में ऐसी कोई कोशिश नहीं की गई।

शनिवार को कमलनाथ ने कहा कि हर भारतीय की सहमति से अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा आयोजित कार्यक्रम के पीछे के कारण के बारे में पूछे जाने पर गुप्ता ने कहा कि मंगलवार एक शुभ दिन है। यह विशुद्ध रूप से एक धार्मिक आयोजन है। इसे किसी और तरह से नहीं देखा जाना चाहिए।अप्रैल में 'हनुमान जयंती' पर, कमलनाथ सरकार गिरने की वजह से अपने निर्वाचन क्षेत्र छिंदवाड़ा में एक भव्य वार्षिक धार्मिक आयोजन नहीं कर सके। 

 

Posted By: Tanisk

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस