नई दिल्ली, प्रेट्र। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने बुधवार को कहा कि सभी संसदों को दूसरी संसदों के संप्रभु जनादेश का सम्मान करना चाहिए। ब्रिटेन की संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस में हुई बहस के दौरान ब्रिटिश सरकार ने भारत की धार्मिक विविधता की सराहना की।

ब्रिटिश संसद ने भारत की धार्मिक विविधता और भाईचारे की समृद्ध परंपरा की सराहना की

बिरला का यह बयान ऐसे समय में आया है जबकि मंगलवार को ब्रिटेन की संसद में 'भारत : अल्पसंख्यक समूहों का उत्पीड़न' विषय पर बहस हुई है। संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कॉमंस में हुई बहस के दौरान ब्रिटिश सरकार ने भारत की धार्मिक विविधता और बहुसंख्यक हिंदुओं और धार्मिक अल्पसंख्यकों के बीच आपसी प्रेम और भाईचारे की समृद्ध परंपरा की सराहना की। ब्रिटिश संसद में बुधवार को जम्मू-कश्मीर के हालात पर भी चर्चा होनी थी।

लोकसभा स्पीकर बिरला ने यूरोपीय संसद के अध्यक्ष के साथ की वर्चुअल चर्चा

लोकसभा स्पीकर बिरला ने यूरोपीय संसद के अध्यक्ष के साथ वर्चुअल चर्चा के दौरान यह टिप्पणी की। दोनों के बीच कोरोना महामारी और जलवायु परिवर्तन के चलते पैदा हुई चुनौतियों के मसल पर चर्चा हुई।

बिरला ने कोरोना के चलते यूरोपीय संघ में लोगों की मौत पर गहरा दुख जताया

बिरला ने कोरोना के चलते यूरोपीय संघ में लोगों की मौत पर गहरा दुख जताया और इस समस्या के खिलाफ वैश्विक स्तर पर एकजुट प्रयास की जरूरत पर बल दिया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021