कोच्चि, आइएएनएस। सोना तस्करी मामले में केरल में सत्तारूढ़ पिनराई विजयन सरकार की परेशानी बढ़ गई है। इस मामले में वामदल समर्थित विधायक करात रजाक का नाम सामने आ रहा है। आरोपित संदीप नायर की पत्‍‌नी सौम्या बीएस के बयान पर आधारित रिपोर्ट को कस्टम विभाग ने केंद्र सरकार को सौंप दी है। सौम्या ने कोझिकोड जिले के वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) समर्थित निर्दलीय विधायक करात रजाक और कोडुवली नगर पालिका के एलडीएफ समर्थित  पार्षद करात फैसल के खिलाफ बयान दिया था। 

आरोपित संदीप नायर की पत्नी सौम्या का बयान हुआ सार्वजनिक

उसने कस्टम विभाग को बताया था कि संदीप करात रजाक के लिए सोने की तस्करी कर रहे थे। संदीप ने उसे बताया था कि वह स्वप्ना सुरेश और सरिथ की मदद से राजनयिक सामान के साथ सोना मंगाता था।एक दूसरे बयान में सौम्या ने कहा था कि एक दिन संदीप ने घर की दीवार में अचानक ड्रिल करना शुरू कर दिया। उसके पूछने पर संदीप ने बताया था कि तस्करी के सोने को छिपाने के लिए वह दीवार में जगह बना रहा है। इसमें सिर्फ वही मध्यस्थ है। इसे यह सोना स्वप्ना सुरेश व सरिथ की मदद से मिला है। विगत में कस्टम विभाग द्वारा लिया गया यही बयान अब सार्वजनिक हो गया है।

रजाक ने आरोपों से किया इंकार  

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए रजाक ने कहा कि यदि जांच सही ढंग से की गई तो मुझे पूछताछ के लिए किसी भी जांच एजेंसी द्वारा नहीं बुलाया जाएगा। लेकिन मेरे खिलाफ यदि कोई साजिश रची जा रही है तो शायद मुझे बुलाया जाएगा। जब से मैंने पार्टी बदली है, मुझे झूठे मामलों में घेरा जा रहा है। मैं किसी भी आरोपित को नहीं जानता।

 

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस