नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। अब तक कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने बुधवार को पार्टी का दामन छोड़ दिया। उन्होंने बतौर निर्दलीय उम्मीदवार नामांकन दाखिल करा सबको हैरत में डाल दिया। पेशे से वकील सिब्बल देश के सक्रिय राजनेताओं में से एक हैं और अब समाजवादी पार्टी के समर्थन से राज्यसभा जाएंगे।  बता दें कि उन्होंने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के अंर्तगत विज्ञान व तकनीक मंत्रालय समेत मानव संसाधन, संचार और कानून मंत्रालय की जिम्मेवारी भी संभाली है।

शुरुआत से ही वकालत में रहा रुझान

साल 1973 में उन्होंने भारतीय प्रशासनिक सेवा में सफलता प्राप्त की। इसके बाद उन्हें एक आफर भी मिला लेकिन उन्होंने इसे स्वीकार नहीं किया। दरअसल सिब्बल शुरुआत से ही वकालत की प्रैक्टिस करना चाहते थे। इसके बाद उन्होंने हावर्ड ला स्कूल से LL.M. की पढ़ाई की। 1983 में उन्हें वरिष्ठ वकील के तौर पर नियुक्त किया गया और फिर 1983 में वे भारत एडिशनल सालिसीटर जनरल बने। साल 2004 के आम चुनावों के दौरान उन्होंने 71 फीसद वोट शेयर के साथ दिल्ली के चांदनी चौक विधानसभा सीट से जीत हासिल की। अब तक कांग्रेस में रहे कपिल सिब्‍बल ने आज लखनऊ पहुंचकर सपा के समर्थन से बतौर निर्दलीय उम्‍मीदवार अपना नामांकन दाखिल कर दिया। बताया कि 16 मई को ही उन्‍होंने कांग्रेस से इस्‍तीफा दे दिया था।

कांग्रेस छोड़ने का खुद किया एलान

कपिल सिब्बल ने कांग्रेस छोड़ने का आज खुद ऐलान किया। कपिल सिब्बल ने आज लखनऊ में राज्यसभा उम्मीदवार का पर्चा भरने के बाद कहा कि उन्होंने 16 मई को कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने कहा कि बतौर निर्दलीय उम्मीदवार वह समाजवादी पार्टी की मदद से एकबार फिर उत्तर प्रदेश से राज्यसभा जा रहे हैं। उल्लेखनीय है कि उन्होंने कांग्रेस से गांधी परिवार के हटने और पार्टी के लिए नए नेतृत्व का मार्ग प्रशस्त करने की भी मांग की थी। तभी अशोक गहलोत ने उनके इस बयान को आड़े हाथों लिया और कहा कि अब सिब्बल ने कांग्रेस से अलग राह चुन ली है।

आजम खान की कराई जमानत

बतौर सु्प्रीम कोर्ट अधिवक्‍ता कपिल सिब्‍बल ने हाल में ही आजम खान की जमानत कराई है। वहीं समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने भी कपिल सिब्बल की जमकर तारीफ की थी। इसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि पार्टी उन्हें राज्यसभा का टिकट दे सकती है। उल्लेखनीय है कि अब एक निर्दलीय उम्‍मीदवार के तौर पर कपिल सिब्बल राज्‍यसभा जाएंगे। कपिल सिब्‍बल के नामांकन के बाद सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, 'आज कपिल सिब्‍बल जी ने नामांकन किया है। वह देश के वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता हैं। देश के जाने -माने केसों को उन्‍होंने लड़ा है। वो लोक सभा में रहे या राज्यसभा में, बहुत अच्‍छे ढंग से अपनी बात रखी है। उनके पास पालिटिकल करियर भी है और हमें पूरी उम्मीद है कि आज जब देश के सामने बड़े-बड़े सवाल हैं जैसे महंगाई, बेरोजगारी, कानून व्‍यवस्‍था और हमारी सीमा में आता चीन । इन तमाम बड़े-बड़े सवालों पर कपिल सिब्‍बल जी अपनी और सपा का पक्ष रखेंगे।'

Edited By: Monika Minal