जम्मू (राज्य ब्यूरो)। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व नेशनल कॉन्फ्रेंस के कार्यवाहक अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने कश्मीर मसले का जल्द हल निकालने को कहा है। उमर ने कहा कि नागरिकों की मौत को अब और मंजूर नहीं किया जा सकता।

कश्मीर के मौजूदा हालात पर बात करते हुए उमर बोले कि शिक्षित बेरोजगार युवाओं का आतंकवाद में शामिल होना बताता है कि हालात पर आत्ममंथन किया जाना चाहिए। वह रविवार को लद्दाख के करीब एक सप्ताह के दौरे के पहले दिन कारगिल जिले के द्रास में जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

कश्मीर में नागरिकों की मौत पर दुख जताते हुए उमर ने कहा कि केंद्र व राज्य सरकार को कश्मीर के मौजूदा हालात को गंभीरता से लेना चाहिए। समय की मांग है कि इस राजनीतिक समस्या का ऐसा स्थायी हल तलाशा जाए जो सबको मंजूर हो। जब पढ़े लिखे युवा बंदूक थामने लगें, तो समझ लेना चाहिए कि अब हालात को नजरअंदाज करने के बजाय गंभीरता से काम करने का समय है। कश्मीर में हर वर्ग से बातचीत की जरूरत को नजरअंदाज करने वाले जाग जाएं।

Posted By: Nancy Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप